विश्व और यूरो चैंपियन स्पेन ने अपने सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन से दूर रहने और कई मौके गंवाने के बावजूद पुर्तगाल को पेनल्टी शूटआउट में बुधवार को सेमीफाइनल में 4-2 से पराजित कर यूरो कप फुटबॉल टूर्नामेंट के फाइनल में प्रवेश कर लिया। निर्धारित और अतिरिक्त समय के 120 मिनट तक दोनों टीमें गोलरहित बराबरी पर थीं। निर्णायक पेनल्टी शूटआउट में स्पेन ने बाजी मारकर लगातार तीसरे बड़े टूर्नामेंट के फाइनल में जगह बना ली जहां उसका मुकाबला जर्मनी और इटली के बीच दूसरे सेमीफाइनल के विजेता से होगा।पेनल्टी शूटआउट में स्पेन 3-2 से आगे था लेकिन पुर्तगाल के ब्रूनो अल्बेस ने गेंद क्रासबार पर मार दी जबकि सेस्क फेब्रेगास ने स्पेन के लिए विजयी गोल दाग दिया। इस हार के साथ ही पुर्तगाल के कप्तान क्रिस्टियानो रोनाल्डो का अपनी कप्तानी में अपने देश को बड़ा खिताब दिलाने का सपना टूट गया।
मैच के बाद निराश नजर आ रहे रोनाल्डो ने कहा कि हमारे खिलाडिय़ों में प्रतिबद्धता की कोई कमी नहीं थी लेकिन हम दुर्भाग्यशाली रहे। हमें दुर्भाग्य की यही सजा मिली कि हम फाइनल में नहीं पहुंच पाए। रोनाल्डो को पुर्तगाल के लिए आखिरी पेनल्टी लेनी थी लेकिन स्पेन के 4-2 की अपराजेय बढ़त बना लेने के बाद उनके पास यह मौका भी नहीं रह गया। रोनाल्डो ने कहा, मैं दुखी हूं। सेमीफाइनल मुकाबले में पेनल्टी के जरिए हारना हमेशा कचोटता है लेकिन पेनाल्टी एक लॉटरी है। इसमें भाग्य जिसपर अधिक मेहरबान रहता है वह जीतता है
क्वालीफाइंग मैचों में सात गोल दागने वाले रोनाल्डो मुख्य टूर्नामेंट में तीन गोल दाग चुके थे और वह गोल्डन बूट के दावेदारों में संयुक्त रूप से शीर्ष पर हैं। हार के बावजूद रोनाल्डो का कहना है कि इस टूर्नामेंट में जिस प्रकार उनकी टीम ने प्रदर्शन किया उस पर उन्हें गर्व है। मुझे लगता है कि मौजूदा यूरोपीयन चैम्पियनशिप पुर्तगाल के लिए बहुत अच्छा रहा। हमने अच्छा प्रदर्शन किया, इस टूर्नामेंट में हम चार सर्वश्रेष्ठ टीमों में शामिल थे और हम इसलिए नहीं जीत सके क्योंकि भाग्य हमारे साथ नहीं था। पेनल्टी में इसकी जरूरत होती है। हमें गर्व होनी चाहिए, लेकिन सच्चाई यही है कि हम थोड़ा निराश हैं क्योंकि हम जानते थे कि हम फाइनल में पहुंच सकते हैं।
रोनाल्डो ने कहा कि उन्होंने इस टूर्नामेंट में अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन किया, जैसा कि वह हमेशा से करते हैं। बकौल रोनाल्डो, मैंने जो कुछ भी टीम के लिए किया उससे मैं संतुष्ट हूं। हमे गर्व होनी चाहिए कि हमें जो करना था हमनें वह किया। हमने अच्छा खेल दिखाया और हम फाइनल खेलने के हकदार थे।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.