owasi दिल्ली पुलिस ने आॅल इंडिया मजलिस इत्तेहादुल मुसलिमीन :एआईएमआईएम: नेता और सांसद असदुद्दीन ओवैसी के खिलाफ एक प्राथमिकी दर्ज की है। पिछले साल कथित तौर पर नफरत फैलाने वाला भाषण देने के सिलसिले में धार्मिक समूहों के बीच शत्रुता फैलाने और युद्ध छेडने सहित अन्य धाराओं के तहत यह मामला दर्ज किया गया है।
यह प्राथमिकी कल पूर्वी दिल्ली के फर्श बाजार पुलिस थाना में दर्ज की गई। दरअसल, एक स्थानीय अदालत ने एक शिकायत पर 18 फरवरी को दिल्ली पुलिस को ओवैसी के खिलाफ आईपीसी की संबद्ध धाराओं के तहत एक आपराधिक मामला दर्ज करने का निर्देश दिया था।
एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया, हमने अदालत के आदेश पर आईपीसी की धारा 120 बी :आपराधिक साजिश:, 121 :भारत के खिलाफ युद्ध छेडने:, 153 ए :विभिन्न समूहों के बीच शत्रुता को बढावा देना:, 504 : शांति भंग करने के लिए इरादतन अपमान: के अलावा सूचना एवं प्रौद्योगिकी अधिनियम की धारा 66ए, 66 एफ और 67 के तहत एक प्राथमिकी दर्ज की है।
उन्होंने बताया कि आगे की जांच जारी है।
अदालत ने सामाजिक कार्यकर्ता की शिकायत पर यह आदेश जारी किया जिन्होंने पिछले साल जून में दिए ओवैसी के नफरत फैलाने वाले कथित भाषण को लेकर प्राथमिकी दर्ज करने की मांग की थी।
शिकायतकर्ता ने कहा था कि पांच जून 2014 को उन्होंने एक अखबार के आॅनलाइन अंक में एक आलेख पढा जिसमें ओवैसी ने कथित तौर पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के खिलाफ एक भाषण दिया था।
उन्होंने बताया कि उन्होंने ऐसा पहली बार नहीं पाया है कि इस नेता ने नफरत फैलाने वाला भाषण दिया हो और एक समुदाय के मन में आतंक तथा दहशत फैलाई हो।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.