smog_pak_650_110716120429स्मॉग का बम लाहौर में दग रहा है मिली जानकारी के अनुसार, दिल्ली की तरह ही पाकिस्तान के लाहौर में भी पिछले कुछ दिनों से धुंध छाई हुई है। इस धुंध की वजह से यहां लोगों को सांसों और आंखों में संक्रमण जैसे कई बीमारियों का सामना करना पड़ रहा है। पाकिस्तान के मौसम विभाग ने लोगों को आगाह करते हुए इस धुंध से आगामी नवम्बर-दिसंबर तक बच के रहने की सलाह दी है।

पाकिस्तान के उच्चाधिकारियों ने पाकिस्तान में फैले इस स्मॉग के लिए भारत को जिम्मेदार ठहराया है। उनका कहना है कि भारत के पंजाब प्रांत के किसान इस वायु प्रदूषण के लिए जिम्मेदार है। ये किसान खेतों में फसल काटने के बाद भूसा वहीं जला देते हैं। जिससे वायु बहुत हद तक प्रभावित होती है। पाकिस्तान के पंजाब प्रांत के साथ-साथ कराची, इस्लामाबाद और कुछ अन्य औद्योगिक शहरों में फैला स्मॉग की मुख्य वजह यही वायु प्रदूषण है।

पदाधिकारियों का कहना है कि लाहौर से इस्लामाबाद के बीच मोटरवे पर भी दृश्यता कम है। इस मोटरवे पर वाहनों की काफी आवाजाही रहती है। मोटरवे के अधिकारियों ने लोगों को धीमी स्पीड से चलने और फॉग लैंप का इस्तेमाल करने की सलाह दी है।

पाकिस्तान के मौसम विभाग ने कहा है कि चूंकि नवंबर और दिसंबर में बारिश होने की संभावना बिलकुल नहीं है, ऐसे में स्मॉग से राहत मिलने की उम्मीद नहीं है। खासकर शहरी इलाके स्मॉग से ज्यादा प्रभावित होंगे। पंजाब के मुख्यमंत्री शहबाज शरीफ ने स्मॉग को गंभीरता से लेते हुए मौसम के हालात पर नजर रखने के लिए एक कमेटी का गठन भी किया है।

पाकिस्तानी पंजाब सरकार स्मॉग से स्वास्थय सम्बन्धी दिक्कतों और सड़क दुर्घटनाओं के मद्देनजर स्कूल बंद करने पर भी विचार कर रही है। पंजाब में स्मॉग से जुड़ी घटनाओं में पिछले हफ्ते कम से कम 17 लोग मारे गए हैं। अस्पतालों में मरीजों की तादाद बढ़ती जा रही है। इनमें बच्चों और बुजुर्गों की तादाद सबसे ज्यादा है। हेल्थ एक्सपर्ट्स ने लोगों को जरूरत पड़ने पर ही बाहर निकलने और मास्क और चश्मे पहनने की सलाह दी है।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.