दिल्ली विश्वविद्यालय नए सत्र की दाखिला प्रक्रिया में छात्रों को सीमित कॉलेज व कोर्स चुनने का विकल्प देने की तैयारी कर रहा है। इस बार ओएमआर फॉर्म में कॉलेज चुनने का भी ऑप्शन हो सकता है। छात्रों के पास सिर्फ दस कॉलेज व छह कोर्स चुनने का विकल्प होगा।
दाखिला कमेटी की एक वरिष्ठ अधिकारी के मुताबिक, पिछले साल ओएमआर फॉर्म में असीमित कोर्स चुनने की छूट थी। नतीजतन, ज्यादातर छात्रों ने सभी कोर्स भर दिए थे। इसका असर कटऑफ पर पड़ा और अधिकतर कोर्स की कटऑफ ज्यादा हो गई थी। वहीं कॉलेजों पर भी दबाव आया था क्योंकि कॉलेज चुनने का ऑप्शन न होने से छात्र कटऑफ के आधार पर सभी में दाखिले के लिए पहुंच गए थे। ऐसे में तय सीटों से कई गुना अधिक दाखिले हुए। इसे देखते हुए कोर्स व कॉलेज चुनने का सीमित विकल्प होगा। इस पर बुधवार दोपहर तक अंमित फैसला होगा। यदि ऐसा होता है तो छात्रों को सोच समझकर आवेदन करना होगा क्योंकि 80 फीसदी कोर्स की कटऑफ 85 से अधिक जाती है। बता दें कि दाखिले के लिए आवेदन ओएमआर फॉर्म से होता है। ये फॉर्म ऑफलाइन आवेदन के लिए होता है। इसके अलावा ऑनलाइन आवेदन का फॉर्म भी इसी तर्ज पर डिजाइन किया जाता है।
delhiआवेदन में रखें ध्यान: यदि कोई छात्र ऑफलाइन के साथ ऑनलाइन माध्यम से भी आवेदन करता है तो उसका दूसरा वाला आवेदन फॉर्म रद्द माना जाएगा, क्योंकि दो बार आवेदन करने से दो बार पंजीकरण माना जाएगा। अधिक आवेदन से कटऑफ पर असर पड़ता है। दो बार पंजीकरण यदि हो जाता है तो बाद वाला पंजीकरण रद्द माना जाएगा। छात्र दूसरे वाले पंजीकरण के आधार पर दावा नहीं कर सकेंगे।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.