लखनऊ: मुख्यमंत्री अभ्युदय योजना के माध्यम से योगी सरकार युवाओं को टैबलेट की सुविधा उपलब्ध करवा रही है। इसके लिए निर्धारित प्रक्रिया से गुजरना है। अलग-अलग प्रतियोगी परीक्षा में जाने के इच्छुक लोगों को निशुल्क कोचिंग उपलब्ध करवाने की शुरुआत सरकार कर चुकी है।
मुख्यमंत्री अभ्युदय योजना के माध्यम से छात्रों को बेहतर भविष्य की तरफ ले जाया जा रहा है। अलग-अलग प्रतियोगी परीक्षाओं की बात करें तो उसमें यूपीएससी, यूपीपीएससी, नीट, आईआईटी जैसी परीक्षा में शामिल हैं। मुख्यमंत्री अभ्युदय योजना का फायदा उठाने के लिए सभी अभ्यर्थियों से आवेदन मांगे गए थे। इसी में कई छात्रों का चयन कर लिया गया है। निशुल्क कोचिंग के साथ-साथ टैबलेट में प्रदेश सरकार की तरफ से उपलब्ध करवाया जा रहा है। इसके लिए 25 अगस्त तक उप निदेशक समाज कल्याण कार्यालय में कुछ जरूरी दस्तावेज उपलब्ध करवाने होंगे। जिसमें आधार कार्ड, शैक्षणिक प्रमाण पत्र, आय प्रमाण पत्र और फोटो सबसे प्रमुख हैं।
निशुल्क कोचिंग का फायदा उठाने के लिए आवेदन के बाद एक परीक्षा में आयोजित की गई थी। उसके बाद लखनऊ मंडल से 1503 लोगों का चयन किया गया है। वहीं प्रदेश की बात करें तो यह आंकड़ा लगभग 10,000 के आसपास है। इन सभी चयनित अभ्यर्थियों को प्रदेश सरकार की तरफ से टैबलेट उपलब्ध करवाया जाएगा। कोरोना महामारी ने ऑनलाइन पढ़ाई के महत्व को समझा दिया। इसीलिए सरकार की तरफ से छात्रों को टैबलेट उपलब्ध करवाया जा रहा है।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.