joshi
अभी कुछ दिन पहले जब भाजपा मुरली मनोहर जोशी भाजपा का घोषणापत्र पढ़ रहे थे तब उनके मन में जो टीस उठ रही थी वह चेहरे पर साफ नजर आ रही थी। साफ साफ दिख रहा था कि घोषणापत्र मोदी के साए में बना है। गुजरात मॉडल का थोपा जाना 100 शहर का निर्माण और गैस व बिजली पर कुछ न बोलना मोदी का करिश्मा नहीं कारनामा है यह बात जोशी बातो बातो में जाहिर कर चुके हैं। आज आखिर उन्होंने अपने दिल की बात कह डाली कि देश मेंं कहीं मोदी की लहर नहीं है। जोशी अपने साथी आडवाणी की दुर्दशा पर दुखी हुए पर जब उन्होंने आडवाणी को मोदी के सामने घुटने टेकते हुए देखा तो उनका दर्द रविवार को बाहर आ ही गया। कानपुर में कांटे की लड़ाई में फंसे जोशी जी ने
भाजपा के प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार नरेंद्र मोदी पर जम कर जहर उगला। उन्होंने साफ- साफ कहा कि देश में मोदी की नहीं बल्कि भाजपा की लहर है। भाजपा की घोषणापत्र समिति के अध्यक्ष जोशी ने साथ ही यह भी कहा कि मोदी द्वारा पेश किया गया विकास के गुजरात मॉडल को सभी राज्यों पर लागू नहीं किया जा सकता। उन्होंने कहा कि वह किसी एक राज्य के मॉडल को सभी राज्यों पर लागू करने के पक्ष में नहीं। मोदी के लिए वाराणसी संसदीय सीट छोडऩे वाले जोशी ने कहा कि प्रधानमंत्री पद के उनके उम्मीदवार शीर्ष पद के लिए मात्र पार्टी के एक प्रतिनिध् िहैं और उन्हें पूरे देश और भाजपा नेताओं का समर्थन मिल रहा है। उन्होंने कहा, मोदी प्रधानमंत्री पद के एक उम्मीदवार के रूप में पार्टी के एक प्रतिनिधि हैंण्ण्इसलिए यह एक अत्यंत व्यक्तिगत बात ;लहर नहीं है। यह एक प्रतिनिधित्व की लहर है।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.