पहली अक्टूबर से बदल जाएगा ट्रेनों के आगमन प्रस्थान का समयtra
पहली अक्टूबर से रेलवे का नया टाइम टेबल लागू होने वाला है। इससे कई ट्रेनों के आगमन-प्रस्थान के समय में परिवर्तन हो सकता है। लेकिन यात्रियों को तो छोड़िए, रेलवे अधिकारियों तक को नई समय सारिणी अभी नहीं मिली है। पहली अक्टूबर या उसके बाद का आरक्षण कराने वाले यात्रियों की जान सांसत में है। “डिजिटल रेलवे” में सूचनाओं के जंगल के बीच उन्हें सब कुछ पता चल रहा है। बस अपनी ट्रेन के आने-जाने के समय की जानकारी नहीं मिल पा रही है। आम तौर पर रेल गाड़ियों का नया टाइम टेबल “ट्रेंस एट ए ग्लांस” हर साल एक जुलाई से लागू होता है। रेलवे द्वारा इसे कुछ दिन पहले अधिकारियों और यात्रियों को उपलब्ध करा दिया जाता है। लेकिन 2014 में किसी कारण से इसके प्रकाशन में विलंब हो गया और इसे सितंबर में लागू किया जा सका। इसकी वैधता इस साल 30 जून तक थी। एक जुलाई से नया टाइम टेबल लागू होना था। परंतु एक बार फिर तैयारी पूरी न होने से अधिकारियों ने पुराने समय को ही 30 सितंबर तक बढ़ा दिया। इसके बाद पहली अक्टूबर से नया समय लागू करने का एलान किया गया, परंतु दुर्भाग्यवश यह अभी तक तैयार नहीं है। न तो नई समय सारिणी छप कर आई है और न ही रेलवे की वेबसाइट पर उसे अपलोड किया गया है। वेबसाइट पर अब भी पुराना टाइम टेबल ही उपलब्ध है। इस बीच जिन यात्रियों ने एक अक्टूबर या उसके बाद की यात्रा का आरक्षण कराया है, उनके टिकट पर ट्रेन का प्रस्थान समय नदारद है। टिकट पर एक अक्टूबर से नया समय लागू होने की सूचना के साथ 139 पर पता करने की सलाह दे दी गई है। दूसरी ओर 139 पर केवल आज की ट्रेन का आगमन-प्रस्थान बताया जा रहा है। रेल मंत्रालय के प्रवक्ता अनिल सक्सेना ने कहा कि नया टाइम टेबल परसों सुबह तक वेबसाइट पर अपलोड हो जाएगा। इसी के साथ उन्होंने एक अक्टूबर को यात्रा करने वाले यात्रियों को ट्रेनों के आगमन-प्रस्थान समय की जानकारी लेने के बाद ही घर से निकलने की सलाह दी है।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.