बहुत दिनों बाद क्रिकेट प्रेमियों के लिए खुशखबरी आई है। दुनिया भर के चहेते क्रिकेटर gavskarको भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड का अध्यक्ष बनाया गया है। बहुत दिनों बाद भारतीय क्रिकेट से मठाधीशों का ग्रहण हटा। गावस्कर के अध्यक्ष बनने से उम्मीद जगी है कि टीम को विदेशी कोच के सहारे नहीं होना पड़ेगा। राहुल द्रविण को भारतीय टीम का कोच बनाया जा सकता है। आरोपों से घिरे श्रीनिवासन किसी भी प्रकार अपनी कुर्सी छोडऩा नहीं चाह रहे थे लेकिन सुप्रीम कोर्ट की फटकार के बाद आखिर उन्हें जाना ही पड़ा। भारतीय क्रिकेट अब मठाधीशों और विदेशी कोच के चंगुल से मुक्त हुआ। सुप्रीम कोर्ट ने शुक्रवार को जारी अपने अंतरिम आदेश में इंडियन प्रीमियर लीग के 16 अप्रैल से शुरू होने जा रहे सातवें संस्करण को नहीं रोकने का फैसला किया तथा साथ ही टूर्नामेंट खत्म होने तक पूर्व क्रिकेटर सुनील गावस्कर को अंतरिम अध्यक्ष बनाने के लिए कहा।

सर्वोच्च अदालत के न्यायाधीशों की दो सदस्यीय पीठ ने अपने अंतरिम आदेश में कहा कि न्यायालय 16 अप्रैल से शुरू होने जा रहे आईपीएल टूर्नामेंट को नहीं रोकेगी तथा साथ ही इसमें किसी खिलाड़ी को खेलने से भी नहीं रोका जाएगा। आईपीएल के 20 मैच संयुक्त अरब अमीरात में खेले जाने हैं।
इसके अलावा न्यायालय ने गावस्कर को आईपीएल टूर्नामेंट के दौरान भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड ;बीसीसीआईद्ध के अध्यक्ष का पदभार संभालने के लिए भी कहा है। ज्ञातव्य है कि बोर्ड के पांच उपाध्यक्षों में से कोई एक भी अध्यक्ष का पदभार ले सकता है।

इससे पहले सुप्रीम कोर्ट ने गुरुवार को भारतीय क्रिकेट बोर्ड ;बीसीसीआईद्ध के अध्यक्ष एनण् श्रीनिवासन को करारा झटका दिया। अदालत ने सलाह दी कि उनकी जगह पूर्व कप्तान सुनील गावस्कर को बोर्ड का अध्यक्ष बनाया जाए। अदालत ने यह भी कहा कि सट्टेबाजी और स्पॉट फिक्सिंग का मामला लंबित रहने तक चेन्नई सुपरकिंग्स और राजस्थान रॉयल्स को आईपीएल से भी निलंबित रखा जाना चाहिए।
धौनी का नाम
सुनवाई के दौरान बिहार क्रिकेट संघ के वकील हरीश साल्वे ने मौजूदा कप्तान और इंडिया सीमेंट के उपाध्यक्ष महेंद्र सिंह धौनी पर झूठ बोलने का आरोप लगाया और कहा कि उनका आचरण भ्रष्ट रहा है। इस मामले पर पीठ ने कोई टिप्पणी नहीं की।
इंडिया सीमेंट का दखल रोकें
हरीश साल्वे ने कहा कि चेन्नई टीम की मालिक इंडिया सीमेंट है व उसके प्रमोटर एनण्श्रीनिवासन हैं। उन्होंने कहा कि यह हितों के टकराव का मामला है। ऐसे में इंडिया सीमेंट के अधिकारियों को बीसीसीआई के काम में हस्तक्षेप करने से रोका जाए। इसके कई अधिकारी अब भी बोर्ड की टीम का हिस्सा हैं।
कोर्ट में दलीलों ने खड़े किए सवाल
श्रीनिवासन पर
. साल्वे ने दलील दी कि फिक्सिंग के आरोपों के बाद सामने आया कि मयप्पन आईपीएल की बैठकों में रहे
. गुरुनाथ मयप्पन ने स्वयं को चेन्नई सुपरकिंग्स टीम का मालिक बताया और टीम के साथ यात्रा की
. इससे साफ है कि बाद में बीसीसीआई के अध्यक्ष श्रीनिवासन की ओर से लीपापोती की गई
कप्तान धौनी पर
. हरीश साल्वे बोले धौनी ने मुद्गल कमेटी के समक्ष सही बयान नहीं दिया।
. उन्होंने कहा थाए श्रीनिवासन के दामाद गुरुनाथ मयप्प्पन सिर्फ क्रिकेट प्रेमी हैं
. धौनी ने कहा था कि मयप्पन का सीएसके से लेना देना नहीं है। यह बयान झूठा निकला
आईपीएल के भविष्य पर
चेन्नई सुपरकिंग्स और राजस्थान रॉयल्स यदि आईपीएल से हटे तो आईपीएल.7 का पूरा आयोजन गड़बड़ा सकता है। यह टूर्नामेंट यूएई में 16 अप्रैल से शुरू होना है।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.