रिपोर्ट-जगत शर्मा
khanan

वन क्षेत्र में अवैध उत्खनन करते दवोचे गये
दतिया। जिले में खनन विभाग के सुस्ती और अर्कमण्ढता के कारण खनन माफियाओं के हौसले इस कदर बुलंद है कि वह षासकीय या वन क्षेत्र की भूमि तक को अपनी वापौती मानते हुऐ धडल्ले से अवैध उत्खनन करने से नही चूक रहे है। जिसके कारध षासन को तो राजस्व का नुकसान तो हो ही रहा है साथ ही पर्यावरण को भी भारी क्षमि पहुंच रही है। आलम यह है कि जिले की अधिंकाष पहाडि़या इन खनन माफियाओं के अवैघ धंघों की भेटं चढ चुकी हैं। कुछ इसी तरह से सक्रिय खनन माफिया दतिया नगर के वनक्षेत्र में आने वाली भूमि पर अवैध उत्खनन करते हुऐ वन विभाग के रेंजर और एसडीओपी ने पकडं लिये और उनके ट्रेक्टर ट्राली के साथ ही मायनिंग और ब्लास्ट करने वाली मषीन जब्त कर ली जिसके बाद आरोपी बब्लू उर्फ मामू खान के पक्ष में सद्दन ठेकेदार समेत भाजपा अल्पसंख्यक मोर्चे के कुछ नेताओं के वन विभाग के अफसरों पर दवाव अत्रबनाने की कोषिष भी की साथ ही आत्महत्या तक की धमकी दी लेकिन वन विभाग के अफसरों ने उनकी एक न सुनते हुऐ उनके खिलाफ कार्यवाही कर मामले को कोर्ट में पेष कर दिया है।
यह है पूरा मामला
वन विभाग के सूत्रों के अनुसार गत रविवार दिनांक 29 जून को रेंजर एसकेएस भादौरिया अपने विभागिय सहयोगियों के गीदवर वनक्षेत्र निचरौली रोड पर गस्त पर थे तभी उन्होने देखा की कुछ मजदूर वन क्षेत्र की भूमि के व्लास्टिंग मषीन और ट्रेक्टर ट्राली के साथ व्लास्ट करने की तैयारी में वह कुछ देर पहले एक व्लास्ट कर चुके थे। जिसके वोल्डर और कुछ पत्थर उनकी ट्राली में भी रखे हुऐ थे । यह सब देखकर रेन्जर भदौरिया ने उन सब पर कार्यवाही करते हुऐ ट्रेक्टर टाली और मायनिंग मषीन सब जप्त कर लिये यह सब सामान बब्लू उर्फ मामू खां के नाम है। जब इस पूरे सामान को जप्त कर लाया जा रहा था तव तक एसडीओपी वन विभाग एलजी षर्मा भी मौके पर पहुंच गये लेकिन दूसरी ओर अभियुक्त मामू खान की ओर से भाजपा अल्पसंख्यक प्रकोश्ठ के कुछ नेताओं समेंत ठेकेदार सद्दन किलेदार और गुड्डू कुरैषी भी मौके पर पहुच गये और यह लोग ट्रेक्टर टाली और मायनिंग मषीन छोड़ने का दवाव बनाने लगें इनमें से कुछ लोगों ने जहां आत्म हत्या करने तक की धमकी दे डाली तो वही दूसरी ओर कुछ अल्पसंख्यक मोर्चे के लोगों ने वन विभाग के अधिकारियों से गाली गलौच भी किया। लेकिन वन विभाग के अधिकारियो ने किसी की भी एक भी नही सुनी और सभी सामान जप्त कर आरोपियों के खिलाफ मामला तैयार कर दिया। साथ ही राजसात की कार्यवाही के लिये मामला आगे बडा दिया है।
अवैध उत्खनन में सक्रिय है कुछ भाजपा अल्पसंख्यक मोर्चे के नेता
षासन और संगठन के पद के रूआव के संमन्वय का ही परिणाम लगता है कि भाजपा अल्पसंख्यक मोर्चे के कई नेता की भूमिका इस मामले में सामने आई हैं जिस तरह से वह अवैघ उत्खनन के आरोपी मामू खां के पक्ष में उतर कर सामने आये और वन विभाग के अधिकारियों के साथ अभद्र व्यवहार किया और दवाव बनाया उससे यही सावित होता है कि कही न कही इन लोगों का भी इस अवैध कारोवार में कुछ न कुछ लेना देना तो है।
जप्त सामान के साथ राजसात की कार्यवाही होगी -एलजी षर्मा,एसडीओपी वनविभाग
वनविभाग के एसडीओपी एलजी षर्मा का कहना है कि वनक्षेत्र सीमा में अवैध व्लास्टिंग की तैयारी करते हुऐ पकडे गऐ आरोपी मामू खां के कंम्प्रेसर मषीन,टेक्टर टाली और अन्य सामान को किसी के भी दवाव में आये विना ही राजसात की कार्यवाही होगी मामले को कोर्ट में भेज दिया गया है। इस मामले में कोई 20 22 लोगों ने दवाव बनाने की कोषिष की थी जिसमें कुछ खुद को अल्पंसंयखक मोर्चे का नेता बता रहे थे। और आरोपी ने तो आत्महत्या करने तक की धमकी दे डाली साथ ही अभद्र व्यवहार भी किया।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.