बेंगलुरू, 20 फरवरी :भाषा: धातु व सीमेंट कंपनियों द्वारा कोयला ब्लाकों के लिए आक्रामक बोली के बीच संसदीय मामलों के मंत्री एम वेंकैया नायडू ने आज कहा कि नीलामी की सफलता से साबित होता है कि घोटाला हुआ था, और यह केवल नियंत्रक एवं महालेखा परीक्षक :कैग: की कल्पना नहीं था।  नायडू ने कहा कि इससे भाजपा का रूख सही साबित होता है।

नायडू ने पीटीआई भाषा से कहा, ”भाजपा का इस मामले की गहराई से जांच का रूख सही साबित हुआ। तत्कालीन वित्त मंत्री की दलील की इसमें शून्य नुकसान हुआ, गलत साबित हुई।ÓÓ  उन्होंने कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने कहा था कि कोई घोटाला नहीं हुआ। ”लेकिन अब यह साफ हो गया है कि देश को 1.86 लाख करोड़ रूपए का भारी नुकसान हुआ था।ÓÓ  नायडू ने कहा कि मोदी सरकार के 20 खानों के लिए उचित व पारदर्शी बोली के फैसले से देश को फायदा हो रहा है। उन्होंंने कहा कि सिर्फ चार दिन में पेशकश 60,000 करोड़ रूपए को पार कर गई है और इससे खान के धनी राज्यों को सबसे अधिक फायदा होगा। देश की पहली खानों की नीलामी के लिए 19 ब्लाकों की पेशकश की गई है। 14 खानें करीब 80,000 करोड़ रूपए में बिक चुकी हैं।

images

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.