मेरे तमाम दोस्त जो अरविन्द केजरीवाल को गाली देते है उनसे कुछ पूछना चाहूंगा 1. क्या आप IIT entrance clear कर सकते है ,शायद नहीं पर अरविन्द वही IIT topper है . 2. क्या आप फर्स्ट एटेम्पट में IRS बन सकते है ? शायद नहीं ..वो अरविन्द two टाइम्स IRS क्लियर है पर दोनों टाइम उन्होंने वो नौकरी ठुकरा दी , सवाल उठता है किसके लिए ? उनके लिए ही जो आज उन्हें गाली दे रहे है . 3. क्या आप अपने फायदे के लिए 1 दिन भी भूखे रह सकते है ? शायद नहीं …पर वो अरविन्द देश के लिए आप के लिए 9 दिन भूखा रहा जब तक वो बेहोश नहीं हो गए .. 4. क्या आप एक आम आदमी हो कर सिर्फ 3 शर्ट्स और एक sandal के दम पे रह सकते है ? शायद नहीं पर यह इंसान रह सकता है और रहता है … 5. क्या आप कड़ी धूप में 1 km भी चल सकते है ? शायद नहीं पर यह इंसान हर दिन 25 km चलता है उसी धूप में वो भी उनके लिए जो आज उन्हें गाली दे रहे है …. 6. क्या आपके अंदर इतनी सहनशीलता है की कोई इंसान आपको थपड मारे तो आप अपने हाथो पे काबू कर सके ? शायद नहीं पर कुछ दिन पहले इन्होने थपड खाया तब लोग जब हस रहे थे इनपे तब का अपने देखा संभलने से पहले इस इंसान ने उस इंसान को लोगो से बचाया जिसने इनपे हमला किआ ,बल्कि अगले दिन उस इंसान से मिलने जा पहुंचे ,है इतनी हिम्मत आप में … 7. आज bjp वाले कहते है अरविन्द congress का एजेंट है ,कुछ दिनों से tv में वाड्रा और aadani के मुद्दो पे बहस चल रही है ,पर जानते हो यह vadra और aadani का मुद्दा अरविन्द ने उठाया था ,हैरान हो ? 8. आपकी लॉट्री लगे 100 rs की क्या आप उसे किसी गरीब को दे सकते हो ? शायद नहीं पर इस इंसान ने magsseे अवार्ड में मिली 25 lakh की रकम झुग्गी में रहने वालो को बाँट दी .. 9. क्या जहा आप काम करते है और वहां कुछ गलत हो रहा हो ,आप कुछ बोल सकते है ? इस इंसान ने NGO खोली परिवर्तन के नाम से ,और सबसे पहले अपने office में चल रहे भ्रष्टतांतर पे हमला किआ … 10. यह इंसान भी AC वाले ऑफिस में बैठ के अपने बचो ,बीवी और बूढ़े माँ बाप के बारे में सोच सकता था ..पर इसने ऐसा नहीं किआ ,यह उन AC वाले दफ्तरों को छोड़ के रास्तो पे आया ,किसलिए ? सिर्फ आप के लिए आज आप लोग बड़े शोक से उनपे हस्ते है उन्हें गाली देते है ,इतना सब कुछ सिर्फ आपके माँ बाप कर सकते है आपके लिए …इसलिए अगली बार गाली देने और हसने से पहले यह जान लेना की आप किसी अपने को गाली दे रहे हो ,जो आपकी तरह घरो में नहीं छुपा रहा वो लड़ा ,उसने वो धूल खाई ,वो थपड खाए ,वो गालिआ सुनी जो आपके हक़ की थी … याद रखना हर गाली अरविन्द पे नहीं आप पे पढ रही हprakhar

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.