न्यूज नेटवर्क 24 प्रतिनिधि
दिल्ली की आप सरकार द्वारा भ्रष्टाचार के खिलाफ नम्बरों को जारी करने के बाद मध्य प्रदेश में भी  राज्य के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने भी एक हेल्पलाइन नंबर जारी किया और खुद शुक्रवार को कई दफ्तरों का आकस्मिक निरीक्षण किया तथा सड़क निर्माण की गुणवत्ता को जानने के लिए एक सड़क की खुदाई भी करवाई। मुख्यमंत्री शिवराज ने भ्रष्टाचार की शिकायतें करने के लिए हेल्पलाइन नंबर 9009133322 जारी किया और लोगों से इस नंबर पर सुझाव भी मांगे।
उन्होंने शुक्रवार को नगरपालिका कोलार व नगर निवेश कार्यालय का आकस्मिक निरीक्षण किया और भवन निर्माण के लिए दी जाने वाली अनुमति के संदर्भ में जानकारी हासिल की। दोनों ही दफ्तरों में मौजूद आम लोगों से शिवराज ने चर्चा कर उनकी बात सुनी। मुख्यमंत्री ने सड़क निर्माण की गुणवत्ता जानने के लिए एक सड़क के बीच में खुदाई कराई।
उन्होंने खुद सड़क में प्रयुक्त किए गए डामर के उपयोग को जानने की कोशिश की। पिछले दिनों उन्होंने विदिशा में सड़क निर्माण में गड़बड़ी पर तीन इंजीनियरों को निलंबित किया था। शिवराज ने इस मौके पर बताया कि वे इन दफ्तरों में आकर यह जानना चाहते थे कि भवन निर्माण की स्वीकृति जो अमूमन 60 दिन में मिल जाती है उसकी क्या स्थिति है। यहां आकर जब उन्होंने एक आवेदनकर्ता से फोन पर पूछा तो उसने बताया कि अनुमति 22 दिन में मिल गई। इस पर उन्होंने प्रसन्नता जताई। शिवराज ने बताया कि नगर निवेश के दफ्तर में एक अधिकारी सिगरेट पीते मिला था जिस पर दो सौ रूपये का जुर्माना लगाया गया है। shivraaj

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.