pention देहरादून उत्तराखंड सरकार ने प्रदेश में दो हेक्टेयर भूमि पर खेती करने वाले किसानों के लिए पेंशन योजना की शुरूआत करने का फैसला किया और सुदूरवर्ती गांवों में डाक्टरों को एयरलिफ्ट कर पहुंचाने का निर्णय किया। आधिकारिक सूत्रों ने यहां बताया कि मुख्यमंत्री की अध्यक्षता में अल्मोडा में हुई राज्य कैबिनेट की बैठक में निर्णय लिया गया कि दो हेक्टेअर भूमि पर खेती करने वाले किसानों के लिए किसान प्रोत्साहन पेंशन योजना लागू की जाएगी जिसके तहत उन्हें 800 रूपए प्रतिमाह पेंशन दी जाएगी। इससे जहां एक ओर खेती को प्रोत्साहन मिलेगा वहीं पलायन भी रूकेगा। इसके अलावा, राज्य कैबिनेट ने सुदूरवर्ती गांवों में डाक्टरों को एयरलिफ्ट कर पहुंचाने का निर्णय लिया। इसके तहत डाक्टरों, फार्मासिस्टों को दवाओं के साथ एयरलिफ्ट कर गांवों में पहुंचाया जाएगा और एक महीने के उपरान्त डाक्टरों को एयरलिफ्ट कर वापस लाया जाएगा और उनकी जगह दूसरे डाक्टरों को भेजा जाएगा।
कैबिनेट ने संविदा में कार्यरत आयुर्वेदिक और होमोपैथिक चिकित्सकों का भी मानदेय बढाए जाने की संस्तुति करते हुए इस पर सुझाव देने के लिए वित्त मंत्री की अध्यक्षता में एक कमेटी का गठन किया। चमोली जिले के गैरसैंण में आगामी नौ जून से शुरू हो रहे उत्तराखंड विधानसभा सत्र के मद्देनजर राज्य कैबिनेट ने आज यह भी फैसला किया कि सत्रों के दौरान मंत्री एक समय के खाने और पानी का भुगतान स्वयं करेंगे तथा अपने साथ कम से कम स्टाफ लाएंगे। पहली बार राजधानी देहरादून से बाहर आयोजित होने वाले गैरसैंण विधानसभा सत्र शिक्षा एवं कृषि को समर्पित होगा और इन विषयों पर खुली चर्चा की जाएगी।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.