imran-khan_170913015338इस्लामाबाद। पाकिस्तान की मीडिया जगत ने पाकिस्तान तहरीके इंसाफ के अध्यक्ष इमरान खान की ओर उनके आंदोलन को लेकर मीडियाकर्मियों पर लगाए गए आरोपों को लेकर तीखी निंदा की है। पाकिस्तान के वरिष्ठ पत्रकारों और आलोचकों ने इमरान खान से उनके आरोपों के संदर्भ में साक्ष्य प्रस्तुत किए जाने की मांग की है। उन्होंने इन आरोपों की जांच के लिए न्यायिक आयोग का गठन किए जाने की भी मांग की।
इमरान खान ने कुछ टेलीविजन रिपोर्टर पर अपनी पार्टी के आंदोलन के संबंध में गलत तथ्य पेश करने का आरोप लगाया था। उन्होंने अपने कार्यकर्ताओं से कहा था कि मीडियावालों ने पैसे लेकर अपनी रिपोर्ट में यह दावा किया कि पीटीआई के धरने में महज कुछ हजार लोग ही मौजूद थे। उन्होंने यह भी आरोप लगाया था कि सरकार समाचार पत्रों को आर्थिक लाभ पहुंचाने के लिए भारी संख्या में विज्ञापन दे रही है।
एक वरिष्ठ आलोचक मुजीब उर रहमान शामी ने जियो न्यूज से बातचीत में इमरान खान के आरोपों की कड़ी निंदा करते हुए कहा कि इमरान को कुछ कहने से पहले तथ्यों की पुष्टि कर लेनी चाहिए। दूसरी तरफ पाकिस्तान फेडरल यूनियन ऑफ जर्नलिस्ट के अध्यक्ष अफजल बट्ट ने कहा कि मीडियाकर्मियों के खिलाफ ऐसे मामलों की जांच के लिए एक न्यायिक आयोग का गठन किया जाना चाहिए।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.