बदायूं से सीएमओ जवाब तलब, हो सकती है सख्त कार्यवाही
लखनघ्, 22 मई 2014 घ्आईपीएनघ्। मुख्यमंत्री कार्यालय ने बदायूं जनपद के मुख्य चिकित्सा अधिकारी से आशा वर्कर्स की शिकायत के मामले में जवाब तलब किया है। शासन के इस कड़े रूख के बाद माना जा रहा है कि जवाब सन्तोषजनक नहीं मिलने पर सख्त कार्यवाही की जा सकती है। बताया जा रहा कि आशाओं ने इस मामले की शिकायत यहां तीन महीने पहले ही कर दी थी, लेकिन चुनावी बयार में इस पर ध्यान नहीं दिया जा सकता। अब अखिलेश सरकार एक बार नौकरशाही के पेंच कसने में जुटी हुई है।
गौरतलब है कि स्वास्थ्य सेवाओं को गांव देहात तक पहुंचाने में आशा वर्कर्स की अहम भूमिका है। पिछले दिनों आशा वर्कर्स ने बदायूं के सीएमओ के खिलाफ आवास पर कई दिनों तक धरना दिया था। बाद में ये कुछ आश्वासन पर धरना-घ्दर्शन तो खत्म हो गया, लेकिन आशा वर्कर्स का गुस्सा शांत नहीं हुआ था। इसकी शिकायत मुख्यमंत्री कार्यालय से की गई थी। अब आशा वर्कर्स की शिकायत पर करीब तीन महीने के बाद यहां मुख्यमंत्री कार्यालय की ओर से बदायूं के सीएमओ से जवाब तलब किया गया है। आशा वर्कर्स की छह बिंदुओं पर शिकायत पर मुख्यमंत्री कार्यालय से से पत्र भी भेज दिया गया है, जिसका जवाब मांगा गया है। शासन से मिली जानकारी के मुताबिक आशाओं ने आरोप लगाया है कि उनका मानदेय कई महीने से फंसा हुआ है। इसके अलावा उनको मोबाइल का वितरण नहीं हो रहा है। सभी बिंदुओं पर मुख्यमंत्री कार्यालय से फरवरी में शिकायत की गई थी।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.