अमेरिकी डोपिंग निरोधक एजेंसी ने सात बार के टूर दे फ्रांस विजेता लांस आर्मस्ट्रांग के खिलाफ डोपिंग के आरोप लगाए हैं। आरोप साबित होने पर आर्मस्ट्रांग साइकिलिंग रेस में मिले खिताब गंवा सकते हैं। आर्मस्ट्रांग को यदि प्रतिबंधित दवाओं के सेवन का दोषी पाया गया तो उन पर आजीवन प्रतिबंध भी लग सकता है। इससे वह ट्रायथलन में भी हिस्सा नहीं ले पाएंगे। पिछले साल साइकिलिंग को अलविदा कहने के बाद वह ट्रायथलन से जुड़े थे। आर्मस्ट्रांग ने एक बयान में इन आरोपों को खारिज करते हुए कहा कि उनके खिलाफ आपराधिक जांच का दो साल पुराना मामला बंद होने के बाद ही ये आरोप लगाए गए जिससे साजिश की बू आती है। इन आरोपों के बारे में सबसे पहले वाशिंगटन पोस्ट ने खबर दी थी। अमेरिकी डोपिंग निरोधक एजेंसी ने पत्र लिखकर आर्मस्ट्रांग को आरोपों के बारे में बताया। इसमें कहा गया कि वे आर्मस्ट्रांग की विजेता टीमों के मैनेजर जोहान ब्रूनील, टीम डॉक्टर प्रेडो सेलाया और लुईस गारिशिया डेल मोरेल, टीम ट्रेनर पेपे मार्टिन और सलाहकार डॉक्टर मिशेल फेरारी के खिलाफ भी डोपिंग के आरोप तय कर रहे हैं। इसमें आरोप लगाया गया है कि आर्मस्ट्रांग ने खून की मात्रा बढ़ाने वाले ईपीओ का इस्तेमाल किया और उसे बढ़ावा दिया। इसमें यह भी कहा गया कि आर्मस्ट्रांग की टीमों की जांच के बाद आरोप तय किए गए हैं।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.