आईआईटी और केंद्रीय इंजीनियरिंग संस्थानों के लिए प्रस्तावित सिंगल एंट्रेंस टेस्ट का विवाद प्रधानमंत्री के दरबार में पहुंच गया है। आईआईटी शिक्षक संघ ने शुक्रवार को प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह से मुलाकात कर टेस्ट को अगले साल से लागू नहीं करने की मांग की। प्रधानमंत्री ने संघ को आश्वस्त किया कि आईआईटी की स्वायत्तता कायम रहेगी।
पीएम से मुलाकात के बाद आईआईटी शिक्षक संघ के सचिव अतुल गुप्ता ने दावा किया कि अगले सत्र से अब टेस्ट के लागू होने के आसार धूमिल पड़ गए हैं। उन्होंने कहा कि पीएम को टेस्ट की खामियों से अवगत कराने के साथ ही यह भी बताया गया कि किस प्रकार मानव संसाधन मंत्रलय ने जल्दबाजी में टेस्ट को अंतिम रूप दिया और सीनेट के सुझावों की अनदेखी की। शिक्षक संघ ने एंट्रेंस में बोर्ड के अंकों को वेटेज देने व गैर आईआईटी में एडमिशन लेने वाले छात्रों के लिए एडवांस टेस्ट अनिवार्य किए जाने के मुद्दों पर भी बातचीत की। संघ ने कहा कि लगभग सभी आईआईटी ने इस टेस्ट को 2014 से लागू करने की बात कही थी, जिसे नजरअंदाज कर दिया गया। पीएम ने इस मसले पर मानव संसाधन विकास मंत्री कपिल सिब्बल से बात करने का आश्वासन दिया है

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.