उनका प्रेम करना उनके ही समाज को नागावार गुजरा।  उन लोगों को पेट में पल रही नन्ही जान का भी ख्याल ने रहा। भीड़ ने उन दोनों को प्यार की सजा देने के साथ ही उस नन्ही जान को दुनिया में आने से पहले ही खत्म कर दिया। असम में अपने पहले पति को तलाक दिए बगैर दूसरी शादी करने वाली कांग्रेस की विधायक रुमी नाथ और उनके दूसरे पति जकी जाकिर की भीड़ ने बेरहमी से पिटाई कर दी। भीड़ ने गर्भवती रुमी को लात और घूंसों से बुरी तर धुना। उन्हें जमीन पर लिटाकर पैरों से भी मारा गया। रुमी बुरी तरह घायल हैं। ब्लीडिंग के बाद उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया है।
पुलिस सुपरिंटेंडेंट प्रदीप पुजारी ने बताया, ‘रूमी और जाकिर को शहर के एक होटल में 200 से अधिक लोगों ने पीटा। दोनों शुक्रवार रात से इस होटल में ठहरे थे।’ पुलिस सूत्रों ने बताया कि इस घटना के तुरंत बाद दोनों को पुलिस भीड़ से बचाकर ले गई। दोनों बुरी तरह घायल हो गए। सूत्रों के मुताबिक, दरअसल लोग पिछले महीने रुमी के जाकिर से दूसरी शादी करने से नाराज थे।
पुजारी ने बताया कि इलाज के बाद दोनों को गुवाहाटी ले जाया जा रहा है। बराक घाटी की बोरखोला विधानसभा सीट का प्रतिनिधित्व करने वाली रुमी ने अपने पहले पति को तलाक दिए बगैर जाकिर से अपनी शादी की घोषणा की थी तब विवाद उत्पन्न हो गया था। उनके पहले पति राकेश सिंह ने प्राथमिकी दर्ज की थी कि उनकी पत्नी पिछले माह से लापता हैं। राकेश सिंह से रुमी की दो साल की एक बेटी है। रुमी पहली बार बीजेपी के टिकट पर 2006 में बोरखोला विधानसभा सीट से निर्वाचित हुई थी। बाद में वह बीजेपी छोडक़र कांग्रेस में शामिल हो गईं और उन्होंने 2011 में दूसरी बार यह सीट जीती।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.