अमेरिका और कनाडा ने रूसी सेना के छह विमानों को अलास्का के पश्चिमी तट के पास रोका है। यह जानकारी सैन्य अधिकारियों ने दी है। गुरुवार सुबह लगभग डेढ़ बजे दो कनाडाई सीएफ-18 लड़ाकू विमानों ने बियोफोर्ट सी में कनाडाई तट से लगभग 64 नॉटिकल किलोमीटर दूर दो बमवर्षकों को रोका।

अमेरिकन एयरोस्पेस डिफेंस कमांड के प्रवक्ता लेफ्टिनेंट कर्नल माइकल जैजदेक ने कहा कि अमेरिकी जेट विमानों ने इन विमानों को बुधवार को प्रशांत क्षेत्र के समयानुसार शाम को लगभग सात बजे अलास्का के तट से 88 किलोमीटर की दूरी पर रोका।

इन रूसी विमानों की पहचान दो आईएल-78 ईंधन के पुर्नभरण टैंकरों, दो मिग-31 लड़ाकू जेट और दो लंबी दूरी के बमवर्षकों के रूप में हुई है। इन्होंने दक्षिण का चक्कर लगाया और अमेरिकी विमानों के तेजी से आने पर रूस स्थित अपने शिविर में लौट गए।

दोनों ही स्थितियों में रूसी विमान वायु रक्षा पहचान क्षेत्र में दाखिल हुए थे। यह क्षेत्र तट से लगभग 321 किलोमीटर तक फैला है। वे अमेरिका या कनाडा के संप्रभु वायुक्षेत्र में दाखिल नहीं हुए थे। जैजदेक ने कहा कि लड़ाकू विमान तेजी से इसलिए गए, ताकि उन्हें पता चल सके कि हम उन्हें देख रहे हैं और उनकी ओर से किसी भी खतरे की स्थिति में उन्हें यह पता लगे कि हम यहां संप्रभु वायुक्षेत्र की सुरक्षा के लिए मौजूद हैं।

पिछले पांच सालों में एनओआरएडी कमान के जेट विमानों ने उत्तरी अमेरिकी वायुक्षेत्र की ओर आते हुए 50 से ज्यादा रूसी बमवर्षक रोके हैं। एनओआरएडी एक द्वि-राष्ट्रीय अमेरिकी और कनाडाई कमान है, जो उत्तरी अमेरिका की वायु रक्षा की कमान संभालता है।61336575232_sukhoi-jet)295_200

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.