बिहार के मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी ने शुक्रवार को एक बार फिर अजीबोगरीब बयान दिया। उन्होंने कहा कि अगर इलाज में गरीबों के साथ खिलवाड़ हुआ तो वे दोषी का हाथ काट देंगे, भले ही इसके लिए उनके साथ कोई भी सितम क्यों न हो।

बिहार के पूर्वी चंपारण जिले के मोतिहारी में एक आमसभा को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि शिक्षा और स्वास्थ्य गरीबों के लिए बहुत आवश्यक है।

मांझी ने कहा, ‘अगर कोई गरीब बीमार होता है तो उसे लोग तंग करते हैं। पहले उसे ओझा तंग करते हैं और जब वह अस्पताल पहुंचता है तो वहां भी परेशान किया जाता है।’

मुख्यमंत्री ने अस्पतालों के कर्मचारियों व अधिकारियों को चेतावनी देते हुए कहा कि ऐसे लोगों को वह घर बैठा देंगे। उन्होंने कहा, ‘पटना मेडिकल कॉलेज अस्पताल (पीएमसीएच) में पिछले दिनों गड़बड़ी हुई तो कितने लोग घर बैठ गए, यह सभी लोग जानते हैं। अगर गरीबों के साथ खिलवाड़ हुआ तो मैं हाथ काट लूंगा। इसके लिए मांझी पर कितना भी सितम होगा, वह सह लेगा।’

उन्होंने कहा कि वह खुद गरीब परिवार से हैं और गरीबों के साथ खिलवाड़ नहीं होने देंगे।

गौरतलब है कि दशहरा उत्सव के दौरान गांधी मैदान में मची भगदड़ के दो दिन बाद मुख्यमंत्री मांझी ने पीएमसीएच का निरीक्षण किया था। उन्होंने वहां के हालात को खराब कहा था। इसके बाद पीएमसीएच के अधीक्षक को निलंबित कर दिया गया था और तीन विभागध्यक्षों और चार प्रोफेसरों का स्थानांतरण कर दिया गया था।

मांझी पहले भी कई विवादास्पद बयान दे चुके हैं। हालांकि देखा गया है कि एक दिन बाद वह ऐसे बयानों से पलट जाते रहे हैं।JitanRamManjhi_PTI

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.