telanganaतेलंगाना में बाढ़ का कहर जारी है। बाढ़ से मेडक जिले में 8 और वारंगल में 3 व्यक्तियों की मौत हो गई. ऐसे में बाढ़ से मरने वालों की संख्या 11 हो गई है. वहीं, सेना ने मेडक जिले बाढ़ में फंसे 24 मजदूरों को बचा लिया है. बाढ़ प्रभावित इलाकों में बचाव और राहत कार्य जारी है.
अधिकारियों ने रविवार को गोदावरी में बढ़ते जलस्तर को देखते हुए तेलंगाना के लिए बाढ़ की चेतावनी जारी कर दी।

भारी बारिश की वजह से गोदावरी का जलस्तर बढ़ गया है। नदी के बहाव को देखते हुए पांच जिलों के प्रशासन को कस्बों और गांवों के निचले इलाकों से लोगों को हटाने और जन-धन की हानि रोकने के लिए हाई अलर्ट पर कर दिया गया है।

हर जिले में बनेगा कंट्रोल रूम
तेलंगाना में भारी बारिश से राजधानी हैदराबाद समेत राज्य के अन्य हिस्सों में जनजीवन प्रभावित हो गया है. मुख्यमंत्री राव ने इससे पहले लोगों को जरूरी मदद के लिए राज्य के हर जिले में एक कंट्रोल रूम बनाने का निर्देश दिया है. मुख्यमंत्री के. चंद्रशेखर राव ने स्थिति की समीक्षा की। उन्होंने सांसदों, विधायकों और मंत्रियों को अपने निर्वाचन क्षेत्रों में स्थिति पर नजर रखने का निर्देश दिया। उन्होंने आदिलाबाद, निजामाबाद, करीमनगर, वारंगल और खम्मम जिलों के पुलिस अधीक्षकों और कलेक्टर को महाराष्ट्र के ऊपरी इलाके से आने वाले पानी से खतरे प्रति सतर्क किया।

राष्ट्रीय आपदा मोचन बल ‘एनडीआरएफ’ करीम नगर जिले के चार गांवों से लोगों को हटाने में जुटा रहा है। यहां गोदावरी पर एक निर्माणाधीन परियोजना में भारी प्रवाह से पानी ऊपर बहने लगा है। पानी मनेरु परियोजना के बांध के ऊपर से बह रहा है। सिंचाई मंत्री हरीश राव और वित्त मंत्री इतेला राजेंद्र ने स्थिति की समीक्षा के लिए परियोजना स्थल का दौरा किया।

मुख्यमंत्री ने कहा कि गोदावरी बेसिन की सभी परियोजनाएंपूरी तरह से पानी से भरी हैं। श्रीराम सागर, निजाम सागर, मध्य मनेरु, निचला मनेरु, सिंगुर और दूसरी परियोजनाएं पूरी तरह भरी हैं। हर घंटे जलस्तर बढ़ रहा है। चंद्रशेखर राव ने कहा अधिकारियों को कालेश्वरम से भद्राचलम तक, पूरी नदी पर निगरानी रखने को कहा गया है। उन्होंने कहा कि प्रनाहिता और इंद्रावती सहायक नदियां में ऊपरी तरफ से ज्यादा पानी आ रहा है और गोदावरी में पानी बढ़ रहा है।

उन्होंने कहा कि लोग इस बात से खुश होंगे कि सभी जलाशय भरे हुए हैं। इनमें हिमायत सागर और गंडीपेट भी शामिल हैं जिससे हैदराबाद को पानी की आपूर्ति होती है। इससे लोगों को दो साल तक सूखे जैसे स्थिति से भी निपटने में मदद मिलेगी।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.