namo

 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को चुनाव सुधारों पर बल देते हुए कहा कि लोकतंत्र की मजबूती के लिए यह जरूरी है। भाजपा की राष्ट्रीय परिषद बैठक में यहां मोदी ने कहा, मुझे लगता है कि यह समय चुनावों में सुधार लाने का है। पंडित दीनदयाल उपाध्याय के शताब्दी जन्म वर्ष में हम पूरे देश में चुनाव सुधारों पर सेमिनार का आयोजन कर सकते हैं।

पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा, कम से कम हमें इस मुद्दे पर विचार-विमर्श शुरू कर देना चाहिए और हम देखेंगे कि इस मंथन से कौन सा अमृत बाहर आएगा। उन्होंने कहा, लोकतंत्र की जड़ों को मजबूत करने के लिए हमें चुनाव सुधार करने होंगे। इसके लिए चुनावी प्रक्रियाओं में हमें कुछ नई चीजें जोड़नी होंगी और कुछ अप्रचलित चीजों को नष्ट करना होगा।

उन्होंने ये भी कहा कि दूसरे राजनीतिक दलों के सदस्य भी उनसे चुनाव सुधारों के बारे में पूछ रहे हैं, लेकिन यह बेहतर होगा कि यह परिवर्तन गहन विचार-विमर्श के बाद ही उभर कर सामने आए। यह कम से कम तीसरी बार है जब प्रधानमंत्री ने चुनाव सुधारों की बात की है। इसमें देश में संसदीय और राज्य विधानसभा चुनाव एक साथ कराने की बात शामिल है।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.