लखनऊ। एक महीने से भी कम समय में योगी सरकार में भाजपा के कई चुनावी वादे हकीकत का रूप लेते नजर आ रहे हैं। ऐसे ही वादों में एक है प्रदेश को 24 घंटे बिजली देने का। उत्तर प्रदेश के सभी घरों को 24 घंटे बिजली आपूर्ति करने के लिए पावर टू आल हेतु केन्द्र और राज्य सरकार के बीच आज समझौता हो गया। प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और केन्द्रीय बिजली राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) पीयूष गोयल की मौजूदगी में मुख्यमंत्री के सरकारी आवास पांच कालिदास मार्ग पर सहमति पत्र पर दस्तखत किये गये। इस दौरान प्रदेश के उप मुख्यमंत्री डा दिनेश शर्मा मंत्री श्रीकांत शर्मा और उर्जा राज्य मंत्री स्वतंत्र देव सिंह भी उपस्थित थे।
सभी गांवों में दूर होंगी बिजली की शिकायतें
शहरों की तरह उत्तर प्रदेश के सभी गांवों के बिजली उपभोक्ताओं को डायल 1912 के माध्यम से शिकायत निवारण सुविधा का विस्तार किया जा रहा है। कार्यक्रम में इसका ऐलान किया गया। केन्द्र सरकार के उपक्रम एनर्जी एफीशियेंसी सर्विसेज लिमिटेड (ईईएसएल) द्वारा दस हजार सोलर पैनल एनर्जी एफिशियेंट पंप की स्थापना के लिए भी वितरण निगमों और ईईएसएल के बीच सहमति पत्र पर हस्ताक्षर हुए। विभिन्न बिजली उपभोक्ताओं को वितरण निगमों के माध्यम से ईईएसएल द्वारा एनर्जी एफिशियेंट बल्ब, पंखे और टयूबलाइट सस्ती दरों पर उपलब्ध कराने के एमओयू पर दस्तखत हुए। प्रदेश के किसानों तथा शहरी एवं ग्रामीण उपभोक्ताओं को बिजली बिलों के बकाये में विलंब अधिभार माफी योजना का शुभारंभ इस मौके पर किया गया। इसके अलावा शहरों की तरह ग्रामीण इलाकों के बिजली उपभोक्ताओं को भी डिजिटल ई-भुगतान की सुविधा का शुभारंभ किया गया।

 

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.