modiनई दिल्ली। दीपावली के पावन पर्व पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश के साथ अपने ‘मन की बात’ की। प्रधानमंत्री के ‘मन की बात’ कार्यक्रम का ये 25वां प्रसारण था। पीएम ने देशवासियों को दिवाली की शुभकामनाएं दीं।

साथ ही प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि यह दिवाली सुरक्षा बलों को समर्पित हो। हर देशवासी के दिल में जवानों के प्रति प्यार और गौरव है जिस प्रकार से उसकी अभिव्यक्ति हुई है, ये हर देशवासी को ताकत देने वाली है। हमारे जवान किस-किस प्रकार से कष्ट झेलते हैं। हम जब दिवाली मना रहे हैं, कोई रेगिस्तान में खड़ा है, कोई हिमालय की चोटियों पर।

पीएम ने कहा कि भारत के हर कोने में उत्साह और उमंग के साथ दीपावली का पर्व मनाया जाता है। वेद-काल से आज तक भारत में जो उत्सवों की परम्परा रही है, वे समयानुकूल परिवर्तन वाले उत्सव रहे हैं। भारत की उत्सव परम्परा, प्रकृति-प्रेम को बलवान बनाने वाली, बालक से लेकर के हर व्यक्ति को संस्कारित करने वाली रही हैं।

जवानों को भेजे संदेश
प्रधानमंत्री ने मीडिया की भी सराहना की, जिसने इस दीपोत्सव को सेना के प्रति आभार व्यक्त करने के अवसर में पलट दिया। पीएम ने कहा कि Sandesh2Soldiers से देशवासियों ने जवानों को संदेश भेजे। एक संदेश में सामर्थ्य बढ़ जाता है और देश ने कर दिखाया। सेना के जवान सिर्फ सीमा पर नहीं, जिंदगी के हर मोड़ पर राष्ट्र भावना से प्रेरित हो करके काम करते रहते हैं। ITBP जवान विकास ठाकुर ने 57,000 पंचायत प्रधान को दे दिया और कहा कि जिन 57 घरों में शौचालय नहीं बना है, शौचालय बना दीजिए।

विश्व पर्व बना दीपोत्सव
दीपावली का पर्व भारत की सीमाओं तक सीमित नहीं रहा है। विश्व के सभी देशों में किसी-न-किसी रूप में दीपावली के पर्व को मनाया जाता है। ब्रिटेन में शायद ही कोई ऐसा शहर होगा जहां पर बड़े ताम-झाम के साथ दिवाली न मनाई जाती हो। ब्रिटेन की प्रधानमंत्री ने लंदन में दीपावली के निमित्त, सभी समाजों को जोड़ता हुआ एक रिसेप्शन आयोजित किया और उसमें खुद हिस्सा लिया। सिंगापुर के प्रधानमंत्री ने इंस्टाग्राम पर वो तस्वीर शेयर की है जिसमें सिंगापुर संसद की 16 महिला सांसदों ने साड़ी पहनी है। अमेरिका ने इस बार दीपावली पर डाक टिकट जारी किया है। तो कनाडा के प्रधानमंत्री ने इस अवसर पर दिया जलाते हुए अपनी तस्वीर ट्विटर पर शेयर की है।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.