modi-in-bricsगोवा। अंतरराष्ट्रीय स्तर पर पाकिस्तान को अलग थलग करने की मुहिम में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज एक कदम और आगे बढ़ा दिया। गोवा में आयोजित ब्रिक्स सम्मेलन के के दूसरे दिन प्रधानमंत्री मोदी ने नाम लिए बगैर आतंकवाद को लेकर पाकिस्तान पर हमला बोला। प्रधानमंत्री मोदी ने ब्रिक्स देशों के राष्ट्राध्यक्षों से बात करते हुए कहा कि हमारी समृद्धि के लिए आतंकवाद सबसे गंभीर खतरा है। विडंबना यह है कि भारत के पड़ोस में आतंकवाद की जन्मभूमि है।

ब्रिक्स देशों से आतंकवाद के खिलाफ एकजुट होने की अपील
PM मोदी ने कहा कि ब्रिक्स देशों को चाहिए कि आतंकवाद के खिलाफ एकजुट होकर खड़े हों। आतंकी मानसिकता सरेआम दावा करती है कि राजनीतिक फायदों के लिए आतंकवाद का इस्तेमाल जायज है। हम इस मानसिकता की कड़ी निंदा करते हैं। आज बढ़ता आतंकवाद मिडिल ईस्ट, वेस्ट एशिया यूरोप और साउथ एशिया के लिए बड़ा खतरा है।

मोदी ने पाकिस्तान पर निशाना साधते हुए कहा कि दुनिया भर के टेरर माड्यूल्स इस देश से संचालित होते हैं। यह देश न सिर्फ आतंकियों को पनाह देता है बल्कि आतंकी मानसिकता भी पालता है। उन्होंने कहा कि आतंकवादियों और उनके समर्थकों को सजा मिले, इनाम नहीं। इससे पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को श्रीलंका के राष्ट्रपति और भूटान के प्रधानमंत्री से मुलाकात की। पीएम मोदी पहले श्रीलंका के राष्ट्रपति मैत्रीपाल सिरीसेना और उसके बाद भूटान के पीएम शेरिंग तोबगे से मिले। इन नेताओं के बीच कई अहम मुद्दों पर बात होने की खबर है।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.