mehbooba-muftiजम्मू। जम्मू-कश्मीर में पाकिस्तान की तरफ से लगातार हो रही सीजफायर के बाद राज्य की मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने पाकिस्तान को खरी-खरी सुनाई है। सीएम महबूबा मुफ्ती ने पाकिस्तान को कड़े निर्देश दिए है कि, वह घाटी में घुसपैठ करवाने से बाज आए।

सीएम महबूबा ने कहा कि पाकिस्तान को समझना होगा। हमें जीना व मरना एक साथ है और हमारा बॉर्डर एक साथ है। हम सभी एक ही जैसे लोग हैं। केंद्र सरकार को परेशान करके बातचीत का माहौल नहीं बन सकता।

8 जुलाई को सुरक्षा बलों के साथ हुई मुठभेड़ में आतंकवादी संगठन हिज्बुल मुजाहिदीन के कमांडर बुरहान वानी की मौत के बाद कश्मीर घाटी में अशांति पैदा हुई। उसके बाद मुफ्ती ने पुलिस से अपील की कि, वह आतंकवादी संगठनों में शामिल होने की खातिर अपने घरों को छोड़ चुके। स्थानीय नौजवानों  को मुठभेड़ में मारे जाने की बजाय मुख्यधारा में लाने की कोशिश करे।

मुफ्ती ने पुलिस और सुरक्षा बलों से अपील की कि वे प्रदर्शनों से निपटने के दौरान पेलेट गन व  पत्थरबाजी से हमला करने को त्याग  समझकर बर्दाश्त  करें। महबूबा ने कहा कि घाटी में पिछले 3 महीने से अशांति के दौरान पुलिस ने बहुत संयम दिखाया है, लेकिन कुछ गलतियां हुई हैं जिन पर कार्रवाई की जरूरत है। उन्होंने यह भी कहा कि राज्य में हालात सुधरने पर ही सशस्त्र बल विशेषाधिकार कानून जैसे काले कानून को हटाया जाएगा।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.