मुंबई में ओमिक्रॉन के बढ़ते खतरे को दखते हुए 1 से 8वीं तक के स्कूल 31 जनवरी तक बंद कर दिए गए हैं. यह फैसला बीएमसी अधिकारियों की बैठक में लिया गया है. महाराष्ट्र में कोरोना संक्रमण के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं. मुंबई में भी बड़ी संख्या में ओमिक्रॉन के मरीज सामने आ रहे हैं. रविवार को महाराष्ट्र में नए वेरिएंट के 50 नए मामले सामने आए थे. स्कूली बच्चों में भी संक्रमण का खतरा तेजी से बढ़ सकता है. यही वजह है कि बीएमसी अधिकारियों ने आज इस मुद्दे पर बैठक (BMC Meeting) की. इसके बाद 31 जनवरी तक 1 से 8वीं तक के स्कूल बंद करने का फैसला लिया गया है.
देश के दूसरे राज्यों की तरह ही मुंबई में भी कोरोना के केस तेजी से बढ़ रहे हैं. बढ़ते संक्रमण के बीच ओमिक्रॉन का खतरा भी तेजी से बढ़ रहा हैं. कोरोना की दूसरी लहर के बीच बड़ी संख्या में संक्रमण फैला था. महाराष्ट्र एक बार फिर से तीसरी लहर की तरफ बढ़ रहा है. हर दिन हजारों की संख्या में संक्रमण के मामले तेजी से सामने आ रहे हैं. स्कूल जाने से बड़ी संख्या में बच्चों को भी संक्रमण हो सकता है. यही वजह है कि स्कूल बंद रखने का फैसला लिया गया है.
31 जनवरी तक 1 से 8वीं तक के स्कूल बंद
बढ़ते कोरोना संक्रमण के बीच बीएमसी के अधिकारियों ने आज बैठक की. बैठक में स्कूल बंद रखने पर अधिकारियों के बीच सहमति बनी. जिसके बाद 1 से 8वीं तक के स्कूल 31 जनवरी तक बंद रखने का फैसला लिया गया है. बता दें कि महाराष्ट्र में सबसे ज्यादा केस मुंबई से सामने आ रहे हैं. रविवार को राज्य में 11,877 संक्रमण के मामले सामने आए थे. वहीं ओमिक्रॉन के 50 मामले दर्ज किए गए थे. मुंबई में रविवार को ओमिक्रॉन का एक नया केस सामने आया था.
BMC ने लिया स्कूल बंद करने का फैसला
बढ़ते कोरोना संक्रमण के बीच मुंबई में आज से 18 साल तक के बच्चों का वैक्सीनेशन शुरू हो गया है. मुंबई के 9 वैक्सीनेशन सेंटरों पर बच्चों को वैक्सीन देने का इंतजाम किया गया है. शुरुआत में वैक्सीनेशन के लिए मुंबई महापालिका के स्कूलों में पढ़ने वाले बच्चों को प्राथमिकता दी जा रही है. वैक्सीनेशन के लिए विद्यार्थियों का नियोजन शिक्षा विभाग द्वारा किया गया है. महाराष्ट्र् के डिप्टी सीएम अजीत पवार ने एक बार फिर से लॉकडाउन का संकेत दिए हैं. उन्होंने स्कूल पर फैसला लिए जाने की बात भी कही थी. जिसके बाद आज 1 से 8वीं तक के स्कूल बंद रखने का फैसला लिया गया है.

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.