arun-_144281180444_650x425_092115103021वित्त मंत्री अरुण जेटली ने आज साफ तौर पर कहां कि पांच सौ व एक हजार के नोट के बंद होने पर घबराने की जरूरत नहीं है। गुरवार तक 500 व 2000 के नये नोट बाजार में आ जायेंगे। पुराने नोट की जगह नए नोट बदलने का काम दो से तीन सप्ताह में हो जाएगा। जनता को आ रही दिक्कतों के बारे में वित्त मंत्री ने कहा कि सभी पुराने नोट पाबंदी के 72 घंटे तक टोल प्लाजा, सरकारी व निजी दवाखानों, एलपीजी सिलेंडर खरीद, रेलवे खानपान तथा पुरातत्व संग्रहालयों की टिकट खरीद के लिए विधि मान्य रहेंगे।

वित्तमंत्री ने दावा किया कि बहुत बड़े स्तर पर इस फैसले का स्वागत हुआ है। समूची दुनिया में भारत की अर्थव्यवस्था की विश्वनीयता बनी रहे उस दृष्टि से यह बहुत बड़ा कदम है वित्तमंत्री ने कहा कि इसके माध्यम से हमने कैशलेस इकोनॉमी की ओर कदम बढ़ाया है। इस फैसले का मीडियम व लांग टर्म में स्वाभाविक लाभ होगा। प्रत्यक्ष व अप्रत्यक्ष टैक्स बढ़ेगा। बैंक के अंदर नकदी बढ़ेगी। अर्थव्यवस्था को सपोर्ट मिलेगा। वित्तमंत्री ने कहा कि इसके माध्यम से हमने कैशलेस इकोनॉमी की ओर कदम बढ़ाया है।

वित्तमंत्री जेटली ने कहा कि हमारी सरकार ने काला धन पर एसआइटी का गठन किया। नया कानून बनाया व स्वैच्छिक आय घोषणा योजना लेकर आयी जिसके तहत बड़ी संख्या में लोगों ने आय की घोषणा की। पिछले कई सालों में कई चीजें सामने आयी थीं। जिससे स्पष्ट हुआ कि देश में समानांतर ब्लैक मनी इकोनॉमी मौजूद है यह अर्थव्यवस्था को प्रभावित करती है।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.