sharabपटना। शराबबंदी पर हाईकोर्ट से रोक हटते ही जैसे सुरा प्रेमियों की मुंहमांगी मुराद पूरी हो गई। हालत यह बने कि शुक्रवार को प्रदेश से लगी नेपाल सीमा की दुकानें खाली हो गईं। नेपाल सीमा से सटे रक्सौल और अन्य गांवों के लोगों ने सीमा स्थित दुकानों से

पूरी शराब खरीद डाली। गौरतलब है कि पटना हाईकोर्ट ने बिहार सीएम नीतीश कुमार के शराबबंदी के फैसले को यह कहते हुए खारिज कर दिया था कि संविधान में ऐसा कोई प्रावधान नहीं है कि यह फैसला लागू किया जा सके। नीतीश ने बीते अप्रैल महीने की पांच तारीख को बिहार में शराब की मेन्युफैंक्चरिंग, बिक्री, और सेवन पर रोक लगा दी थी।
हिंदुस्तान टाइम्स की खबर के मुताबिक नेपाल के बारा स्थित एक शराब की दुकान के मालिक रमेश भट्ट की मानें तो हाईकोर्ट के फैसले के चार घंटे के भीतर ही उनकी दुकान में शराब का स्टॉक खत्म हो गया। खास बात यह रही कि इस दौरान सशत्र सीमा बल और वे जवान भी मूक दर्शक बने रहे जो बंदी के दौरान तकरीबन दो हजार लोगों को शराब के सेवन के चलते गिरफ्तार कर चुके थे।
बिहार के पूर्वी चंपारण के रक्सौल, अदापुर और गोरासन ब्लॉक से भारी मात्रा में लोगों को नेपाल सीमा से आते-जाते देखा गया, वे शराब पिए हुए थे, और साथ में दो-तीन शराब के बोतलें लेकर आ रहे थे। हालांकि, अधिकारियों ने ऐसी किसी भी परिस्थिति के बारे में जानकारी होने से इनकार किया। बता दें कि इससे पहले सितंबर में माह में भारत की तरफ से नेपाल के प्रशासन से कहा गया था कि वह भारत से आने वाले शराबियों के खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई करे।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.