pakistani-visa

नई दिल्ली। केंद्र सरकार ने लंबे समय के वीजा पर भारत आए पाकिस्तान के अल्पसंख्यंकों ने हिंदुओं को बड़ी राहत दी है। विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने गुजरात सरकार को एक अधिसूचना जारी करते हुए कहा है कि मंत्रालय ने देश में लंबी अवधि के वीजा पर रहे पड़ोसी देशों के अल्पसंख्यकों को वीजा नियमों में राहत देने का फैसला किया है। इस तोहफा के बारे में जानकर पाकिस्तानी हिन्दूओं में खुशी की लहर दौड उठा।

पड़ोसी देशों के अल्पसंख्यकों को वीजा नियमों में ढील का फायदा पाकिस्तान, अफगानिस्तान, बांग्लादेश जैसे देशों के हिन्दू, पारसी, सिक्ख, बौद्ध और जैन समुदाय के लोगों को मिलेगा। लंबी समय के वीजा पर आए हुए लोग अक्सर अपना कोई कारोबार या फिर नौकरी आदि करना चाहते हैं लेकिन वीजा नियमों की वजह से कई बार उन्हें योग्य होते हुए भी काम नहीं मिल पाता है। विदेश मंत्रालय के इस आदेश के बाद ये वीजा धारक प्रदेश में कहीं भी जा सकेंगे, साथ ही आसानी से कोई बिजने भी कर सकेंगे। वीजा को एक प्रदेश से दूसरे प्रदेश के लिए भी ट्रांसफर किया जा सकेगा। साथ ही इन लोगों को ड्राइविंग लाइसेंस भी जारी किया जाएगा।

गुजरात के अहमदाबाद में 3000 से अधिक पाकिस्तानी हिंदू रहते हैं। जिनके पास लंबे समय के लिए वीजा हैं। केंद्र सरकार के इस फैसले के बाद पड़ोसी देश पाकीस्तान से आए इन लोगों में खुशी का माहौल हो गया। उनका कहना है कि ये उनकी तरक्की में मददगार होगा। समुदाय के लोगों का कहना है कि वीजा नियमों की वजह से उन्हें कई बार स्थानीय लोगों द्वारा लिया जाता था और वे कानूनी कार्रवाई भी नहीं कर पाते थे। समुदाय के लोगों ने कहा कि इससे डॉक्टरों और पढ़े-लिखे लोगों को सबसे ज्यादा फायदा होगा।

 

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.