goa-bricsगोवा। गोवा में ब्रिक्स सम्मेलन से पहले भारत और रूस के बीच द्विपक्षीय बातचीत हुई। जिसके बाद कई अहम समझौतों पर हस्ताक्षर किए गए हैं। इन समझौतों से रक्षा क्षेत्र में भारत और रूस के बीच नया आयाम स्थापित होगा। इस समझौतों के अनुसार भारत को  मिलिट्री हेलीकॉप्टर मिलेगा। रूस एस-400 सिस्टम भी भारत को देगा। भारत और दोनों देशों के बीच गैस पाइपलाइन पर स्टडी, न्यूक्लियन एनर्जी, आंध्र प्रदेश और हरियाणा में स्मार्ट सिटी, शिक्षा, रेल की स्पीड बढ़ाने समेत कई क्षेत्रों में अहम समझौतों पर हस्ताक्षर किए गए।
 
रूस भी मेक इन इंडिया की मदद के लिए आगे
इस सम्मेलन में पीएम मोदी ने कहा कि भारत और रूस के आपसी सहयोग से आगे ले जाने पर सहमत हुए हैं। दोनों देश जहां रक्षा और सुरक्षा के क्षेत्र में मिलकर काम करेंगे। और वहीं रूस भारत को मेक इन इंडिया में मदद भी करेगा। भारत-रूस के संबंधों का जिक्र करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि रूस भारत का पुराना साथी है। और अगर एक अच्छे साथी के साथ मिलकर आए तो भारत और भी मजबूत हो जाएगा।


आतंकवाद का करेंगे मुकाबला
पीएम मोदी ने इस मौके पर कहा कि भारत और रूस आतंकवाद के वैश्विक खतरे का मुकाबला मिलकर करेंगे. पीएम मोदी ने कहा कि भारत और रूस ब्रिक्स समेत तमाम मंचों पर मिलकर काम कर रहे हैं और तमाम वैश्विक मंचों पर वैश्विक मसलों के समाधान के लिए मिल जुलकर काम करेंगे।

पीएम मोदी की भाषण की शुरुआत व अंत में रूसी भाषा
पीएम मोदी ने अपने भाषण को संबोधन करते हुए शुरूआत की और भाषण रूसी भाषा में खत्म किया। पीएम मोदी ने कहा कि भारत और रूस तमाम क्षेत्रों में क्षमतावान हैं और अगर मिलकर काम करते हैं, तो न केवल दोनों देशों के लोगों को जीवन बेहतर होगा बल्कि दुनिया में भी बड़े बदलाव का कारण बनेगा।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.