नई दिल्लीः CBSE की 12वीं की परीक्षा के किसी विषय में असफल रहने के चलते कंपार्टमेंट परीक्षा दे रहे छात्रों को आज बड़ी राहत मिली. सुप्रीम कोर्ट के दखल के बाद यह सुनिश्चित हो गया कि इन छात्रों का एक साल बर्बाद नहीं होगा. उन्हें कॉलेज में प्रवेश मिल सकेगा.
पिछली सुनवाई में जस्टिस ए एम खानविलकर की अध्यक्षता वाली बेंच ने कंपार्टमेंट दे रहे लगभग 2 लाख छात्रों के भविष्य को लेकर चिंता जताई थी. CBSE और UGC से मसले का हल निकालने को कहा था. आज CBSE ने कोर्ट को बताया कि कंपार्टमेंट परीक्षा का रिज़ल्ट 10 अक्टूबर तक घोषित कर दिया जाएगा. वहीं UGC ने बताया कि उसके एकेडमिक कैलेंडर के मुताबिक कॉलेज एडमिशन 31 अक्टूबर तक हो सकता है.
कोर्ट ने दोनों के बयान पर संतोष जताया. कोर्ट ने माना कि इससे इन छात्रों को कॉलेज एडमिशन के लिए पर्याप्त समय मिल जाएगा. याचिकाकर्ता अंकिता संवेदी के लिए पेश वरिष्ठ वकील विवेक तनखा ने भी कोर्ट, CBSE और UGC के प्रति आभार व्यक्त किया. इसके बाद कोर्ट ने मामला बंद कर दिया.
इस साल कोरोना के मद्देनजर CBSE की कंपार्टमेंट समय पर आयोजित नहीं हो पाई. अब देश के 1248 परीक्षा केंद्रों में 22 से 29 सितंबर तक यह परीक्षा हो रही है. छात्रों ने चिंता जताई थी कि इस देरी के चलते उन्हें कॉलेज में एडमिशन नहीं मिल पाएगा. मसले को महत्वपूर्ण मानते हुए कोर्ट ने CBSE और UGC से जवाब मांगा था.

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.