aganbaadi-7

लखनऊ। राजधानी में आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों ने मंगलवार को दिन भर अपनी मांगों को लेकर जमकर हंगामा किया। उन्‍होंने हजरतगंज से लेकर निशातगंज तक के रास्ते पर पूरी तरह से जाम लगा दिया था जो कि पुलि‍स के लाठीचार्ज के बाद ही खुल पाया था लेकिन जैसे-जैसे रात हुई कार्यकत्रियों ने एक बार फिर सड़क को घेर लिया और बीच सड़क पर बिस्तर लगा कर सो गईं। मंगलवार को इन कार्यकर्त्रियों ने सड़कों पर जमकर प्रदर्शन ‌किया। जिससे सडको हजरतगंज, लोरेटो, सीएम आवास, अमीनाबाद, चारबाग, राजभवन, सिकंदरबाग, बर्लिंग्टन सड़कों पर भीषण जाम लग गया था।

हंगामे के बाद सड़क जाम

आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों ने मंगलवार को अपनी मांगों को लेकर दिन भर जमकर हंगामा किया।  स्कूली बच्चे जाम में फंसकर रह गए, बल्कि लोगों को आने-जाने में भी परेशानी होती रही। हालत ऐसे हो गई कि करीब तीन घंटे तक हजरतगंज से लेकर निशातगंज की रफ्तार पूरी तरह से थम गई थी। प्रदर्शन कर रही कार्यकत्रियों ने विधानसभा का भी घेराव किया। जिसके बाद पुलि‍स को लाठीचार्ज कर प्रदर्शन कर रही कार्यकत्रियों को हटाना पड़ा, लेकिन रात होते ही हजारों की तादात में कार्यकत्री सड़क पर इकट्ठा हो गईं और बीच सड़क पर बिस्तर लगा कर सो गईं।

कार्यकत्रियों ने क्या मांग की

आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों को 18000 रुपए सैलरी दी जाए। सहायिकाओं को 9000 रुपए सैलरी दी जाए। कार्यकत्रियों की मांग है कि निदेशक आनंद कुमार को तत्काल हटाया जाए, क्योंकि वे उनकी मांगों को पूरा नहीं होने दे रहे हैं और सीएम को गुमराह कर रहे हैं।

हंगामा जारी रहा

दूसरे दिन भी सुबह लक्ष्मण मैदान में प्रदर्शन जारी रहा जिससे लखनऊ की सड़कों पर फिर से भयंकर जाम लगने लगा है। लक्ष्मण मैदान में प्रदेशभर से लखनऊ में जुटी आंगनवाड़ी कार्यकर्त्रियों ने लखनऊ की सड़कों पर भयंकर जाम से ग्रसित किया।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.