doctor-strikeअलीगढ़। छात्रनेता के नजदीकी साथी के बदसलूकी करने से गुस्साए एएमयू के जवाहर लाल नेहरू मेडिकल कॉलेज के रेजिडेंट डॉक्टर हड़ताल पर चले गए हैं। हड़ताल से मेडिकल कॉलेज की इमरजेंसी सेवाएं ठप हो गई हैं। इससे मरीजों को खासी परेशानी उठानी पड़ रही हैं। आए दिन किसी ने किसी मुद्दे पर डॉक्टरों के हड़ताल पर चले जाने से मरीजों व उनके तीमारदारों की आफत आ रही है।

मेडिकल कॉलेजों के डॉक्टरों का आरोप है कि यूनिवर्सिटी के एक छात्रनेता के नजदीकी साथी ने उनसे अभद्र व्यवहार किया है। इसके बाद रेजिडेंट डॉक्टर एसोसिएशन ने सभा की और हड़ताल पर चले गए। इससे मेडिकल कॉलेज में इमरजेंसी सेवा ठप हो गई। हालत यह है कि परेशान परिजन मरीजों को वहां से लेकर वापस हो रहे हैं। सभी डॉक्टर ओपीडी से बाहर आ गए हैं। गुस्साए डॉक्टरों की मांग है कि अभद्रता करने वाले छात्र पर कार्रवाई की जाए। डॉक्टरों की हड़ताल जारी रहेगी या ख़त्म होगी इसका फैसला रात नौ बजे की बैठक के बाद होगा।

मालूम हो कि मेडिकल कॉलेज में आए दिन किसी न किसी बात पर हंगामा होता रहता है। वहीं, हड़ताल के कारण राष्ट्रीय कार्यक्रम जननी सुरक्षा योजना और जननी शिशु सुरक्षा योजना कार्यक्रम प्रभावित हो रहे हैं। प्रसव के लिए आने वाली गर्भवतियों को लौटाया जा रहा है। यहां पर 13 अगस्त को नई आरडीए का गठन हुआ था। तब से अब तक एसोशिएसन दो बार हड़ताल का फैसला ले चुकी है। मरीज और उनके तीमारदारों का कहना है कि डॉक्टरों पर एस्मा लगाया जाए। आए दिन डॉक्टर हड़ताल कर जनता को परेशान करते हैं।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.