दंतेवाड़ा – छत्तीसगढ़ के दंतेवाड़ा जिले में नक्सलियों ने बड़ी संख्या में आत्म समर्पण किया है। पुलिस का दावा है कि 4 इनामी समेत 28 नक्सलियों ने पुलिस के सामने सरेंडर कर दिया है। दंतेवाड़ा के चिकपाल पुलिस कैम्प में नक्सलियों ने समर्पण किया। पुलिस का कहना है कि जिन नक्सलियों ने सरेंडर किया है वह सभी बड़ी वारदातों में शामिल थे। नक्सल हिंसा के मामले में पुलिस को इन नक्सलियों की लंबे समय से तलाश थी। दंतेवाड़ा पुलिस के मुताबिक कटेकल्याण एरिया कमेटी सदस्य एवं पेद्दारास एलओएस कमांडर हड़मा मंडावी उर्फ हरिराम उर्फ मिड़कोम पिता बोटी राम मंडावी निवासी सूरनार ने चिकपाल कैंप में सरेंडर किया था।

इसके बाद उसने स्थानीय गोंडी बोली के माध्यम से नक्सलियों के विकास विरोधी विचारधारा और नक्सलवाद से होने वाले नुकसान के बारे में अपने साथियों को बताया। साथ ही ग्रामीणों को भी सरकार की योजना बताई। विचारों से प्रभावित होकर 27 और नक्सलियों ने पुलिस के सामने सरेंडर कर दिया।

दंतेवाड़ा पुलिस ने दावा किया है कि प्लाटून कमांडर मंगलू मड़कामी, कटेकल्याण LOS सदस्य बामन कवासी, LGS सदस्य हांदा, पोड़ियामी गंगी, सन्नू मरकाम, भीमा कुड़ामी, हांदो कुडामी, रोसोल माडवी, जोगा कवासी, बुधरा माडवी, आयता मडकामी, आयतू मडकामी, हडमा सोढ़ी ने सरेंडर किया. इनके साथ ही मादे कुहराम, बामन मरकाम, लक्खो कुडामी, लखमा मुचाकी, हुंगा मुचाकी, सुकड़ा मुचाकी, गागरू मरकाम, सुकड़ा मड़कामी, हडमा कवासी, लच्छू कोवासी, बामन मरकाम, बुधराम कोवासी, हिड़मा मड़काम, सुकड़ा कोवासी व महादेव पोड़ियाम ने सरेंडर किया है।

रिपोर्ट – न्यूज नेटवर्क 24

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.