नई दिल्ली: अगर आप भारतीय रेल (Indian Railways) से यात्रा करते हैं तो आपको पता होगा कि नियमों के अनुसार आरक्षण वाले टिकटों (Ticket reservation) का चार्ट ट्रेन (Train) के स्टेशन से छूटने के चार घंटे पहले ही बन जाता है, जिसके कारण कई बार लोगों को टिकट रिजर्व नहीं कर पाने की दिक्कत से भी जूझना पड़ता है। लेकिन, अब शायद किसी को ऐसी परेशानी का सामने नहीं करना पड़ेगा। क्योंकि, भारतीय रेलवे ने इससे जुड़े नियमों में कुछ बदलाव किए हैं।
रेलवे टिकट रिजर्वेशन नियमों में बदलाव
भारतीय रेलवे (Indian Railways) से यात्रा करने वाले लोगों के लिए यह एक खुशखबरी के जैसा है। दरअसल, भारतीय रेल ने यात्रियों की सुविधाओं के मद्देनजर टिकट आरक्षण के नियमों में बदलाव किया है। अब ट्रेन में टिकट आरक्षण (Train ticket reservation) का दूसरा चार्ट ट्रेन के स्टेशन से छूटने से आधा घंटा पहले जारी किया जाएगा। यह ट्रेन में टिकट रिजर्वेशन का फाइनल चार्ट (Reservation chart) होगा। सामान्य तौर पर रेलवे आरक्षण का पहला चार्ट ट्रेन के स्टेशन से छूटने से चार घंटे पहले जारी होता है।
रेलवे टिकट रिजर्वेशन नियमों में बदलाव का फायदा
स्टेशन से ट्रेन के छूटने के आधा घंटा पहले टिकट रिजर्वेशन का दूसरा चार्ट जारी करने उद्देश्य पहले रिजर्वेशन चार्ट के बाद खाली रही सीटों पर ऑनलाइन या खिड़की टिकट के जरिए बुकिंग को बंद करना है। इससे उन लोगों को फायदा होगा, जिन्होंने पहले ही वेटिंग में टिकट बुक कर रखे हैं। नियमों में हुए इन बदलावों से वेटिंग में लिए जा चुके टिकटों को कंफर्म होने के लिए ज्यादा वक्त मिलेगा। इससे वेटिंग टिकटों के कंफर्म होने के चांस बढ़ जाएंगे।
स्पेशल ट्रेनों के लिए बना था अस्थाई नियम
कोरोना वायरस महामारी के कारण बने हालातों के बीच जब सरकार ने स्पेशल ट्रेन चलाने का निर्णय लिया तो उसके साथ ही इन स्पेशल ट्रेनों के लिए टिकट आरक्षण के नियमों में भी अस्थाई बदलाव किया गया। रेलवे ने स्पेशल ट्रेन के स्टेशन से चलने से दो घंटे पहले दूसरा आरक्षण चार्ट जारी करने का अस्थाई निर्णय लिया था। यह निर्णय भारतीय रेल द्वारा 11 मई 2020 को लिया गया था।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.