मदुरैकांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने आज पोंगल के दिन तमिलनाडु का दौरा किया. इस दौरान मदुरै पहुंचे राहुल गांधी ने अवनीपुरम में जल्लीकट्टू कार्यक्रम में हिस्सा लिया. राहुल गांधी ने कहा कि तमिल कल्चर को देखना काफी प्यारा अनुभव था. मुझे खुशी है कि जल्लीकट्टू व्यवस्थित और सुरक्षित तरीके से आयोजित किया जा रहा है, जिसमें सभी सुरक्षित हैं और सभी का ध्यान रखा जा रहा है.
दरअसल राहुल गांधी का तमिलनाडु दौरा इसलिए अहम है, क्योंकि इसी साल राज्य में विधानसभा के चुनाव होने हैं. इस साल अप्रैल-मई में होने वाले तमिलनाडु विधानसभा चुनाव में द्रमुक और कांग्रेस के बीच गठबंधन की संभावना है. हाल ही में राहुल गांधी निजी दौरे पर विदेश गए थे और वह पिछले दिनों लौटे हैं. विदेश से लौटने के बाद वह यहां पहली बार किसी सार्वजनिक कार्यक्रम में शामिल हुए.

 

पोंगल के मौके पर आयोजित इस कार्यक्रम में राहुल गांधी के साथ द्रमुक की युवा इकाई के सचिव उदयनिधि स्टालिन, कांग्रेस के संगठन महासचिव केसी वेणुगोपाल, प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष केएस अलागिरी और पुडुचेरी के मुख्यमंत्री वी नारायणसामी भी मौजूद थे. अलागिरी ने कहा था कि राहुल गांधी का दौरा किसानों और समृद्ध तमिल संस्कृति को सम्मान देने के लिए है. राहुल कृषि कानूनों के खिलाफ आंदोलन कर रहे किसानों को अपना नैतिक समर्थन देंगे.
इससे पहले राहुल गांधी ने आज सुबह तमिल में ट्वीट कर पोंगल की शुभकामनाएं दीं. राहुल गांधी ने लिखा, ‘’सभी को पोंगल की शुभकामनाएं. मैं आपके साथ पोंगल मनाने के लिए आज तमिलनाडु आ रहा हूं. मैं मदुरै में जल्लीकट्टू उत्सव में भाग ले रहा हूं.’’
क्या है जल्लीकट्टू
गौरतलब है कि जल्लीकट्टू तमिलनाडु के ग्रामीण इलाक़ों का एक परंपरागत खेल है जो पोंगल त्यौहार पर आयोजित किया जाता है. इसमें लोग बैलों को पकड़ने और उन्हें काबू करने की कोशिश करते हैं. इस खेल को लेकर कई बार विवाद भी हो चुका है.

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.