नई दिल्ली। पूर्वी लद्दाख में एलएसी पर तनाव घटाने की पहल जारी रखते हुए चीन ने मंगलवार को भी गलवन घाटी के पेट्रोलिंग प्वाइंट 15 से अपने सैनिकों को पीछे हटाना शुरू कर दिया है। जबकि हॉट स्प्रिंग और गोगरा इलाके से भी चीनी सैनिकों के पीछे हटने का सिलसिला शुरू हो गया है।

भरोसेमंद उच्चपदस्थ सूत्रों के अनुसार पेट्रोलिंग प्वाइंट 15 से चीनी सैनिकों के पीछे हटने की प्रक्रिया में दो से तीन दिन पूरी की जाएगी। तनातनी के हर प्वाइंट से सैनिकों को हटाने की प्रक्रिया में समय इसीलिए लगेगा क्योंकि कोर कमांडर स्तर पर बनी सहमति के अनुसार दोनों पक्षों के कमांडर जमीनी स्तर पर मौका-मुआयना कर एक दूसरे से पुष्टि करेंगे।

सूत्रों के अनुसार इस बात की पुख्ता संभावना है कि पेट्रोल प्वाइंट 14 के बाद बुधवार को चीनी सेना हॉट स्प्रिंग में पेट्रोलिंग प्वाइंट 17 और 17ए से भी पीछे हटना की प्रक्रिया शुरू कर देगी। अगले दो से तीन दिनों में इन जगहों से दोनों देशों की सेनाएं पीछे हट जाएंगी इसके पुख्ता संकेत हैं। हॉट स्प्रिंग और गोगरा इलाके से मंगलवार को ठीक-ठाक तादाद में चीनी सैनिकों के पीछे हटने की सूत्रों ने पुष्टि करते हुए कहा कि 30 जून को दोनों देशों के कोर कमांडरों की वार्ता में सहमत बिन्दुओं के अनुसार तनातनी घटाने की पहल पर अमल शुरू हुआ है। इसके तहत एलएसी पर दोनों देशों के सैनिकों के बीच करीब तीन किलोमीटर का बफर जोन बनाए रखना है। ताकि गलवन घाटी में 15-16 जून की रात को हुए खूनी संघर्ष जैसी नौबत को टाला जा सके।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.