pet-kaise-kam-kareहेल्थ। बॉडी में सोडियम की मात्रा को बैलेंस करने के लिए पोटैशियम की जरूरत होती है। पोटैशियम की कमी होने पर बॉडी फंक्शन्स सही तरह से नहीं हो पाते और थकान, कमजोरी, इनडाइजेशन, पेट फूलना जैसी हेल्थ प्रॉब्लम्स होने लगती हैं।

सरोज सुपर स्पेशियलिटी हॉस्पिटल, दिल्ली की फूड एंड न्यूट्रीशियन एक्सपर्ट डॉ. निधि धवनका कहना है कि, वक्त रहते पोटैशियम की कमी को पहचानकर इसकी कमी को दूर किया जाए, तो बड़ी प्रॉब्लम से बचा जा सकता है। यहां डॉ. निधिबता रही हैं बॉडी में पोटैशियम की कमी के संकेतों के बारे में। पोटैशेयम की कमी खानपान ढंग से नही होना, और खाना डाइजेस्ट नही होता है।

पोटैशियम का कमी से क्या क्या होता है
पोटैशियम की कमी से बॉडी में एसीड बढ़ने लगता है। और सुस्ती भी आती है।
इसकी कमी से मेंटल हेल्थ पर बुरा असर पड़ता है। और बार बार स्ट्रैस भी आती है।
पोटैशियम के कमी होने के कारण बॉडी में बल्ड सर्कुलेशन भी सही से नही हो पाता है।
पोटैशियम के कमी होने से निंद न आने की समस्या भी हो जाती है।

कितना चाहिए पोटैशियम? दिनभर में इतना पोटैशियम है जरूरी…
1 से 3 साल तक के बच्चे को 3000 मिग्रा लेना चाहिए। 4 से 8 साल तक 3800 मिग्रा, 9 से 13 साल तक 4500 मिग्रा, और 14 साल से ऊपर तक 4700 मिग्रा लेना चाहिए।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.