बदलते मौसम में अगर आपको लगातार खांसी आ रही है और सांस लेने में परेशानी का सामना करना पड़ रहा है तो यह ब्रोंकाइटिस (Bronchitis) की समस्या हो सकती है. डॉक्टरों का कहना है कि आने वाले कुछ दिनों में ठंड बढ़ेगी और प्रदूषण के स्तर में भी इजाफा होगा. इससे भी कई लोगों को ब्रोंकाइटिस की समस्या हो सकती है. इसलिए जरूरी है कि लोग खुद का बचाव करें और कोई भी परेशानी होने पर चिकित्सीय सलाह लें.
वरिष्ठ फिजीशियन डॉक्टर अजय प्रताप  बताते हैं कि सांस की नली में सूजन और इंफेक्शन होने की वजह से ब्रोंकाइटिस की बीमारी होती है. अगर किसी व्यक्ति के फेफड़े (Lungs) कमजोर है तो वह भी इससे संक्रमित हो सकते हैं. जो लोग अधिक धूल वाली जगहों पर रहते हैं. उनको भी यह बीमारी होने की आशंका रहती है. डॉक्टर ने बताया कि ब्रोंकाइटिस ठीक होने में दो सप्ताह तक का समय लग सकता है. कई बार इस बीमारी में खांसी समय के साथ बढ़ती है और जो महीनों तक भी रह सकती है. अगर शुरुआती दिनों में ही लक्षणों की पहचान हो जाए तो इस बींमारी से बचा जा सकता है.
यह हैं लक्षण
ब्रोंकाइटिस के लक्षणों में व्यक्ति को खांसी और सांस लेने में तकलीफ के अलावा बदन दर्द होता है. खांसी के साथ बलगम भी आ सकता है. इसके अलावा अगर रात को सोते समय छाती से घरघराहट की आवाज आ रही है तो यह भी ब्रोंकाइटिस का ही लक्षण है.
 बरतें ये सावधानियां
डॉक्टर विजय के मुताबिक,  ब्रोंकाइटिस से बचने के लिए लोगों को धूल, प्रदूषण और धूएं से खूद का बचाव करना चाहिए. जो लोग धूम्रपान करते हैं वह इसे छोड़ने की कोशिश करें. ऐसा कोई भी काम न करें जिससे फेफड़ों को नुकसान पहुंचे. अगर आपके परिवार या आसपास किसी व्यक्ति को सांस की बीमारी है तो उससे दूर रहें. खुद को स्वस्थ रखने के लिए नियमित तौर पर व्यायाम करें. कोशिश करें कि बाहर जाते समय हमेशा मास्क लगाकर रखें और अगर बाइक चलाते हैं तो एक साथ में एक गर्म कपड़ा भी रखें. अगर कोई समस्या हो रही है तो इन्हेलर का प्रयोग भी कर सकते हैं.

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.