यूपी के लखनऊ में आज बीजेपी के सामाजिक प्रतिनिधि सम्मेलन में बदायूं से सांसद संघमित्रा मौर्य नाराज हो गईं. दरअसल जिस समय संघमित्रा मौर्य मंच पर भाषण दे रही थीं तभी बीचे में उन्हें रोक दिया गया. इसके बाद काफी देर तक मंच पर सन्नाटा पसरा रहा. उसके बाद संघमित्रा नाराज होकर अपनी कुर्सी पर जाकर बैठ गईं. बीजेपी सांसद को बीच में रोके जाने से नाराज उसके समर्थक काफी भड़क गए. जिसके बाद उन्होंने जोर-जोर से नारेबाजी (BJP MP’S Supporters) शुरू कर दी. हालांकि मंच से यह भी कहा गया कि बीजेपी सांसद नाराज नहीं हैं. लेकिन उनके समर्थक कुछ भी सुनने के लिए तैयार नहीं थे. इस घटना के समय सीएम योगी भी मंच पर मौजूद थे.
सामाजिक प्रतिनिधि सम्मेलन में हो रही नारेबाजी के बीच सीएम योगी (CM Yogi) ने जैसे ही संघमित्रा की तरफ देखा उन्होंने मंच पर खड़े होकर अपने समर्थकों से शांत होने को कहा. बता दें कि संघमित्रा के बाद बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह का भाषण होना था. लेकिन बीजेपी सांसद के समर्थक शांत ही नहीं हो रहे थे. सीएम योगी के उनकी तरफ देखते ही संघमित्रा ने खड़े होकर अपने समर्थकों से शांत होने की अपील की. उन्होंने कहा कि सभी लोग शांत होकर अपनी जगह पर बैठ जाएं. उन्होंने कहा कि उनकी नाराजगी समाज या फिर शीर्ष नेतृत्व से नहीं है.
भाषण रोकने से नाराज हुईं संघमित्रा मौर्य
संघमित्रा ने कहा कि उनके भाषण के समय डिस्टर्ब किया जा रहा था इसीलिए वह बैठ गईं थीं. उन्होंने कहा कि अपनी बात कहने के दौरान उन्हें डिस्टर्ब बर्दाश्त नहीं है. इसी वजह से वह कुर्सी पर जाकर बैठ गए. वह पार्टी या शीर्ष नेतृत्व से नाराज नहीं है. उन्होंने कहा कि मंच पर यूपी के मुखिया और प्रदेश अध्यक्ष मौजूद हैं. उनके सामने अनुशासन बनाए रखें. संघमित्रा ने कहा कि मौर्य समाज हमेशा अनुशासन में ही रहा है. समाज ने अनुशासन में रहकर ही अपने हक की लड़ाई लड़ी है. इसीलिए उन्होंने समर्थकों से अनुशासन बनाए रखने की अपील की.
सीएम योगी के सामने समर्थकों की नारेबाजी
बता दें कि संघमित्रा की नाराजगी को देखते ही उनके समर्थकों ने जोर-जोर से नारे लगाना शरू कर दिया . इसके साथ ही वह बैनर भी दिखा रहे थे. बीजेपी सांसद के भाषण को बीच में रोके जाने से उनके समर्थकों में काफी नाराजगी दिखी. संघमित्रा के कुर्सी पर बैठते ही समर्थकों के नारेबाजी और बैनर दिखाना शुरू कर दिया. सीएम योगी के सामने उनके समर्थक हंगामा करते रहे. जब सीएम ने बीजेपी सांसद की तरफ देखा तब जाकर उन्होंने अपने समर्थकों को शांत कराया.

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.