लखीमपुर खीरी मामले में आरोपी आशीष मिश्रा के पिता और गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा ने आज गृह मंत्री अमित शाह से दिल्ली में मुलाकात की. लखीमपुर खीरी हिंसा मामले में आशीष मिश्रा के खिलाफ यूपी पुलिस ने एफआईआर दर्ज की है. इसके बाद तमाम विपक्षी पार्टियां आशीष मिश्रा की गिरफ्तारी की मांग पर अड़ी हुई हैं. नई दिल्ली के नॉर्थ ब्लॉक में स्थित गृह मंत्रालय में अजय मिश्रा टेनी की अमित शाह से मुलाकात हुई. इस दौरान अजय मिश्रा टेनी के साथ केन्द्रीय गृह राज्यमंत्री नित्यानंद राय ने भी गृह मंत्री से मुलाकात की. हालांकि, इन नेताओं की अमित शाह से किस मुद्दे पर बात हुई, ये स्पष्ट नहीं हो पाया है.
उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी में चार किसानों को कथित तौर पर कुचलने के लिए बेटे के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज होने के बाद से मिश्रा की गृह मंत्री से यह पहली मुलाकात है. केंद्रीय गृह राज्यमंत्री मिश्रा नॉर्थ ब्लॉक में पहली मंजिल पर स्थित अपने कार्यालय में आए और करीब आधे घंटे तक वहां रहे. कुछ आधिकारिक कामकाज करने के बाद मिश्रा नॉर्थ ब्लॉक से रवाना हो गए. इसके बाद वह शाह के आवास पर गए, जहां वह करीब आधे घंटे तक रहे.
किस बारे में हुई दोनों नेताओं के बीच बातचीत?
ऐसा माना जा रहा है कि मिश्रा ने गृह मंत्री को उत्तर प्रदेश में अपने गृह जिले लखीमपुर खीरी में रविवार को हुई घटना के बारे में बताया. पुलिस ने रविवार की घटना में किसानों की मौत को लेकर अजय कुमार मिश्रा के पुत्र आशीष मिश्रा और सात अन्य के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज किया है. केंद्रीय मंत्री ने किसान संगठनों के उन आरोपों से इनकार किया कि उनका बेटा एक कार में बैठा हुआ था. उन्होंने कहा कि उनके पास यह दिखाने के लिए सबूत है कि उनका बेटा कहीं और हो रहे किसी कार्यक्रम में गया हुआ था.
मिश्रा का कहना है कि भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ताओं को लेकर जा रही एक गाड़ी तब पलट गई जब प्रदर्शनकारियों ने उस पर पथराव किया. किसान उस गाड़ी के नीचे आ गए और उनकी मौत हो गयी. प्रदर्शनकारियों ने कार में सवार चार लोगों को बाहर निकाला और पीट-पीटकर उनकी हत्या कर दी. लखीमपुर खीरी हिंसा मामले में 8 लोगों की मौत के बाद कांग्रेस, समाजवादी पार्टी, बहुजन समाज पार्टी, आम आदमी पार्टी समेत कई अन्य विपक्षी पार्टियों ने आशीष मिश्रा की गिरफ्तारी की मांग की है.

रविवार को किसानों के विरोध प्रदर्शन के दौरान भड़की हिंसा में आठ लोगों की मौत हो गई थी. मृतकों में चार किसान थे, जो कथित तौर पर भाजपा कार्यकर्ताओं द्वारा चलाए जा रहे वाहनों से कुचल गए. इसके साथ ही, अन्य भाजपा कार्यकर्ता और एक चालक था जिन्हें प्रदर्शनकारियों द्वारा कथित तौर पर वाहनों से खींच लिया गया था और पीट-पीट कर मार डाला गया. उत्तर प्रदेश पुलिस ने केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय कुमार मिश्रा के बेटे के खिलाफ मामला दर्ज किया है लेकिन अभी तक किसी की गिरफ्तारी नहीं हुई है.
हालांकि, मंत्री अजय मिश्रा लगातार कह रहे हैं कि उनका बेटा आशीष मौके पर मौजूद नहीं था, अगर वो घटनास्थल पर होता तो जिंदा नहीं बचता. उन्होंने यहां तक कहा कि अगर उनके बेटे के घटनास्थल पर मौजूद होने के सबूत मिले तो वो अपने पद से इस्तीफा दे देंगे. इधर, कांग्रेस ने उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी जिले में हुई हिंसा में चार किसानों की मौत की घटना को लेकर मांग की कि केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा को बर्खास्त करने के साथ उनके पुत्र को गिरफ्तार किया जाए. पार्टी ने कहा कि पीड़ित परिवारों को एक-एक करोड़ रुपये का मुआवजा दिया जाए.

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.