योगी कैबिनेट की मीटिंग आज शाम को होने वाली है। इसमें युवाओं को टैबलेट देने का प्रस्ताव पास हो सकता है। बताया जा रहा है कि इस मीटिंग में शामिल रहने के लिए सभी कैबिनेट मंत्रियों को कहा गया है।  बता दें कि यूपी सरकार ने बजट में घोषणा की थी कि विद्याथियों के बीच टैबलेट का वितरण किया जाएगा। कुछ दिन पहले ही प्रदेश भाजपा ने ट्वीट कर बताया था कि अक्टूबर से टैबलेट बांटे जाएंगे। ट्वीट में बताया गया था कि 18-25 आयु के सभी विद्यार्थियों के लिए अक्तूबर में टैबलेट वितरण की प्रक्रिया शुरू की जाएगी।
प्रदेश सरकार ने राज्य के एक करोड़ नौजवानों को टैबलेट-स्मार्टफोन दिए जाने की घोषणा की थी। जिसके तहत स्नातक, परास्नातक, तकनीकी और डिप्लोमाधारी नौजवानों को इस योजना से जोड़ते हुए टैबलेट या स्मार्टफोन दिया जाना है। इस योजना के लिए प्रदेश सरकार ने बजट में तीन हजार करोड़ के कोष का गठन किया है। छात्रों के अलावा योगी सरकार ने स्किल्ड वर्कर्स को भी सर्विस देने के लिए एक लाख नि:शुल्क टैबलेट देने का निर्णय लिया है। सरकार का कहना है कि इससे आम लोगों को रोजमर्रा की सेवाओं के लिए परेशान नहीं होना पड़ेगा।
योगी सरकार उत्तर प्रदेश के एक करोड़ युवक-युवतियों को स्मार्ट फोन, टैबलेट या लैपटॉप देगी. ग्रेजुएशन, पोस्ट ग्रेजुएशन या किसी डिप्लोमा में एडमिशन लेने वाले स्टूडेंट्स को लैपटॉप या टैबलेट देगी। इसके लिए सरकार ने 3000 करोड़ का निधि कोष बनाया है। प्रतियोगी परीक्षाओं में हिस्सा लेने वाले छात्रों को भत्ता देने का फैसला भी किया गया है। यूपी सरकार ग्रेजुएशन, पोस्ट ग्रेजुएशन या किसी डिप्लोमा में प्रवेश लेने वाले युवाओं को टैबलेट और स्मार्ट फोन देगी। इसी के साथ प्रतियोगी परीक्षाओं में हिस्सा लेने वाले युवाओं को भत्ता देने का भी फैसला सरकार ने किया है।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.