नोएडा तमाम क्षेत्रों में उन्नति जरूर कर रहा हो लेकिन प्रदूषण के मामले में नोएडा ने सारे रिकॉर्ड तोड़ दिए हैं. दिल्ली एनसीआर के इलाकों में अगर गुरुग्राम, दिल्ली, गाजियाबाद और नोएडा के बीच तुलना करें तो नोएडा (Delhi-NCR Air Pollution) की हवा इस वक्त सबसे ज़्यादा प्रदूषित है. नोएडा का AQI 750 के पार पहुंच गया है, सुबह 4:00 बजे 772 दर्ज किया गया. रविवार को ये आंकड़ा 800 के पार भी जा सकता है सफर ऐप के मुताबिक रविवार को नोएडा का एयर क्वालिटी इंडेक्स 830 के करीब रहने का अनुमान है, यानी फिलहाल दिल्ली एनसीआर में नोएडावासी सबसे ज़हरीली हवा में सांस ले रहे हैं और उचित कदम नहीं उठाए गए तो आने वाले दिनों में समस्या और बड़ी हो सकती है.
बेहद खराब श्रेणी में पहुंची दिल्‍ली की हवा, हेल्‍थ इमरजेंसी के हालात
दिल्ली में हवा की गुणवत्ता में लगातार गिरावट देखी जा रही है यानी हवा और ज़्यादा ज़हरीली हो रही है. रात 1:30 बजे के करीब दिल्ली का ओवरऑल एयर क्वालिटी इंडेक्स यानी AQI बेहद गंभीर श्रेणी में रहा. SAFAR एप पर AQI 499 दर्ज किया किया गया. दिल्ली के सबसे प्रदूषित इलाकों की बात करें तो दिल्ली विश्वविद्यालय और मथुरा रोड के आसपास की हवा सबसे ज़्यादा दूषित रही. दिल्ली विश्वविद्यालय का एयर क्वालिटी इंडेक्स 578 और मथुरा रोड के आसपास का एयर क्वालिटी इंडेक्स 557 दर्ज किया गया.
लोगों को घर से बाहर न निकलने की हिदायत
जब AQI ‘गंभीर’ की श्रेणी में पहुंच जाता तो लोगों को घरों में रहने की हिदायत दी जाती है खासतौर पर बच्चों और बुजुर्गों को बेहद जरूरी होने पर ही बाहर निकलने को कहा जाता है. हवा में प्रदूषण स्तर पर पहुंच जाता है कि फेफड़ों और दिल के मरीजों को सांस लेने में दिक्कत हो सकती है. केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड ने लोगों को हिदायत दी है कि बेहद जरूरी होने पर ही घरों से बाहर निकलें. साथ ही सरकारी और निजी कंपनियों और दफ्तरों को यह सुझाव दिया गया है कि वाहनों के इस्तेमाल में 30 फीसदी की कटौती करें और कार पूलिंग और घर से ही काम करने के विकल्पों पर विचार करें. दिल्ली में 18 नवंबर तक हवा में जहर घुला रहेगा और तापमान गिरने के चलते हवा की गुणवत्ता में और गिरावट आ सकती है. केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड ने प्रदूषण को रोकने के लिए काम कर रही तमाम एजेंसियों को ‘इमरजेंसी’ श्रेणी जैसे हालातों को ध्यान में रखते हुए तैयारी करने के लिए कहा है.
ए‍क‍ नजर में देखें, कहां कितना है AQI
लोकेशन – नोएडा
AQI 750 के पार पहुंचा
सुबह 4:00 बजे
AQI – 772
रात 1:30 बजे
लोकेशन- लोधी रोड
Delhi AQI (OVERALL) – 499
Delhi University – 578
Mathura Road – 557
रात 2:30 बजे
लोकेशन – आनंद विहार – AQI- 490
Indirapuram – AQI-486
ज़हरीली हवा के चलते ‘इमरजेंसी’ के हालात
वैसे तो दिल्ली का आनंद विहार इलाका साल भर प्रदूषण के लिहाज़ से बदनाम रहता है लेकिन साल के अंत में यहां हवा की गुणवत्ता और खराब हो जाती है. रात 2:30 बजे आनंद विहार का एयर क्वालिटी इंडेक्स 490 यानी 500 के करीब दर्ज किया गया. आनंद विहार ही नहीं आनंद विहार से सटे गाजियाबाद में फैक्ट्रियों और औद्योगिक इकाइयों के चलते हवा दूषित हो चुकी है.
आने वाले दिनों में दिल्ली एनसीआर की हवा और अधिक दूषित होने वाली है. इसी बात को ध्यान में रखते हुए केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड ने संबंधित एजेंसियों को GRAP के तहत ‘इमरजेंसी’ श्रेणी के अनुसार तैयारियां करने को कहा है. यानी दिल्ली एनसीआर में ज़हरीली हवा के चलते ‘इमरजेंसी’ लगने वाली है.

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.