गोंडा के इटियाथोक क्षेत्र के त्रीमनोरमा राम जानकी मंदिर के परिसर में महंत सीताराम दास व शिष्य सम्राट दास की दबंगों ने जमकर लात घूसों से पिटाई कर दी. जिसका वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है. दबंगों द्वारा सीतारामदास और उनके शिष्य की पिटाई के दौरान मंदिर की सुरक्षा में लगे दो होमगार्ड भी बेबस दिखे. पिटाई का आरोप प्रधान अमर सिंह व उनके गुर्गों पर लगा है. फिलहाल घायल महंत सीताराम दास का जिला अस्पताल में इलाज चल रहा है.
साल भर पहले भी हुआ था विवाद 
एक साल पहले राम जानकी मंदिर के महंत सीताराम दास व उनके शिष्य सम्राट दास पर जानलेवा हमला हुआ था. पुलिस ने इस घटना का खुलासा करते हुए मंदिर के महंत सीताराम दास व उनके शिष्य के सम्राट दास सहित कई लोगों को जेल भेजा था. जानलेवा हमला करने का आरोप वहां के अमर सिंह पर लगा था. फिलहाल पुलिस ने कार्रवाई करते हुए कई लोगों को जेल भेजा था. अब जब महंत व उनके शिष्य जब मंदिर पर आ गए हैं तो फिर से नया विवाद शुरू हो गया. पुलिस अब दोनों पक्षों के विरुद्ध थाना स्थानीय पर सुसंगत धाराओं में अभियोग पंजीकृत कर अन्य कार्यवाई में जुटी हुई है.
सीओ का बयान
वहीं, पूरे मामले पर लक्ष्मीकांत गौतम सीओ सिटी का कहना है कि थाना इटियाथोक पर पंजीकृत मामले में अभियुक्त सीताराम दास व सम्राट दास रविवार को थाना इटियाथोक क्षेत्र के अंतर्गत स्थित त्रिमनोरमा मंदिर पर आकर स्थानीय लोगों से वाद-विवाद करने लगे तथा अनावश्यक दबाव बनाने लगे जिस कारण दोनों पक्षों में मारपीट हो गयी. जिसके संबंध में दोनों पक्षों के विरुद्ध थाना स्थानीय पर सुसंगत धाराओं में अभियोग पंजीकृत किया जा रहा है.
मंदिर पर कब्जे की लड़ाई 
आपको बता दें कि, पूरा मामला त्रीमनोरमा राम जानकी मंदिर व मंदिर की जमीन पर कब्जा किये जाने का है. लगभग साल भर पहले राम जानकी मंदिर के महंत सीताराम दास व उनके शिष्य सम्राट दास पर जानलेवा हमला हुआ था और आरोप अमर सिंह पर लगा था, लेकिन पुलिस की जांच में इस बात का खुलासा हुआ था कि, अमर सिंह को फंसाने के लिए महंत सीतारामदास व सम्राट दास झूठी घटना रची थी, जिसका पुलिस ने खुलासा किया था और महंत सीताराम दास सहित अन्य लोग जेल भी गए थे. लेकिन जब वह जेल से छूट कर आए हैं और राम जानकी मंदिर में दर्शन करने के लिए गए, उसी के बाद दबंगों ने रामदास और सम्राट दास की जमकर पिटाई की, जिसका वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है.

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.