Lashkar-E-Taiba Kashmir Terrorismलश्कर ने अपनी कुत्सित निगाहें भारत की ओर गड़ा दी हैं। पाकिस्तान स्थित लश्कर-ए-तैयबा को कश्मीर में शांति रास नहीं आ रही है. उसकी योजना इस राज्य के अलावा देश के अन्य स्थानों पर आतंकवादी हमले करने की है. यह खुलासा किया है कि 2008 के मुम्बई हमले के सिलसिले में गिरफ्तार आतंकवादी अबू जिंदाल ने। जिंदाल ने पूछताछ के दौरान यह भी बताया है कि यह आतंकवादी समूह कश्मीर में 100 प्रशिक्षित आतंकवादियों की हथियारों के साथ घुसपैठ कराने की फिराक में है. पूछताछ से जुड़े एक सूत्र ने बताया, ‘लश्कर जम्मू एवं कश्मीर में फिर से आतंकवाद पनपाना चाहता है और ऐसा करके वह देश के शहरी क्षेत्रों में अपनी उपस्थिति बनाए रखना चाहता है.सूत्रों के मुताबिक जिंदाल लश्कर के आतंकवादियों में शीर्ष स्थान रखने वाले भारतीयों में शुमार है. उसने मुम्बई हमले से पहले पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर में भी कुछ समय बिताया है. वह मुजफ्फराबाद में लश्कर के शीर्ष आतंकवादियों का काफी करीबी भी रहा है. उसने पूछताछ के दौरान बताया कि लश्कर के मुजफ्फराबाद स्थित संगठन युनाइटेड जिहाद काउंसिल जम्मू एवं कश्मीर में प्रशिक्षित सशस्त्र आतंकवादियों की बड़ी संख्या में घुसपैठ कराने की शिद्दत के साथ योजना बना रहा है|

26/11 मुम्बई हमले के संचालकों में से एक अबू जुंदाल का जन्म 1981 में महाराष्ट्र के बीड़ जिले के माजलगांव में हुआ था. उसका पुकारू नाम तब सैयद जैबुउद्दीन या जैबी था. जुंदाल को सऊदी अरब से प्रत्यर्पित करने के बाद 21 जून को दिल्ली में गिरफ्तार कर लिया गया और तब से जांच अधिकारी लगातार पूछताछ कर रहे हैं|

2005 और 2006 के मध्य 21 दिनों के आतंकवादी प्रशिक्षण के लिए जिंदाल को छह अन्य लोगों के साथ पाकिस्तान भेजा गया था. जिंदाल ने मुरिदके के प्रशिक्षण शिविर में प्रशिक्षण लिया और बाद में यहीं उसने अजमल कसाब को भी प्रशिक्षित किया|

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.