भारतीय क्रिकेटर हार्दिक पंड्या के पांच करोड़ रुपये की घड़ियां दुबई से लाने की खबर सामने आई थी. इसमें दावा किया गया था कि कस्टम विभाग ने घड़ियों को जब्त कर लिया है. इस मामले में अब हार्दिक पंड्या का बयान सामने आया है. उन्होंने आरोपों का खंडन किया है. हार्दिक का कहना है कि घड़ियां जब्त नहीं हुई हैं बल्कि कस्टम ड्यूटी के मूल्याकंन के लिए गई हुई हैं. उन्होंने साथ ही दावा किया कि घड़ियों का मूल्य पांच करोड़ नहीं बल्कि डेढ़ करोड़ रुपये हैं. हार्दिक हाल ही में यूएई में टी20 वर्ल्ड कप 2021 खेलकर आए हैं. इसी दौरान उन्होंने दुबई से खरीदारी की थी. वे 15 नवंबर को ही भारत आए थे.
भारतीय क्रिकेटर ने 15 नवंबर को इस मामले में बयान जारी किया और सफाई दी. हार्दिक पंड्या ने कहा कि उन्होंने खुद से घड़ियां कस्टम विभाग को दी थी. उन्हें जब्त नहीं किया गया है. उन्होंने घड़ियों के बिल और बाकी कागजात भी कस्टम को दिए हैं. वे घड़ियों की कस्टम ड्यूटी चुकाने को तैयार हैं लेकिन अभी तक कस्टम विभाग की तरफ से सामान का पूरा मूल्याकंन नहीं हुआ है. हार्दिक पंड्या से पहले उनके बड़े भाई क्रुणाल पंड्या भी कस्टम से जुड़े विवाद में फंसे थे. उन पर तय सीमा से ज्यादा सोना लाने का आरोप लगा था.

क्या कहा हार्दिक ने
हार्दिक पंड्या ने अपना बयान सोशल मीडिया पर जारी किया. इसमें उन्होंने कहा, 15 नवंबर, सोमवार की सुबह दुबई से आने पर मैंने अपना सामान लिया और मैं खुद से ही मुंबई एयरपोर्ट पर कस्टम काउंटर पर मेरे खरीदे हुए सामान की जानकारी देने के लिए गया और जरूरी कस्टम ड्यूटी चुकाई. मुंबई एयरपोर्ट पर मेरे जानकारी देने को लेकर सोशल मीडिया पर गलत छवि पेश की जा रही है और मैं जो कुछ भी हुआ उसे साफ कर देना चाहता हूं. मैंने दुबई से कानून तरीके से जो भी सामान खरीदा था उसकी खुद से ही जानकारी दी और जो भी ड्यूटी बन रही थी उसे चुकाने के लिए तैयार था.
कस्टम डिपार्टमेंट ने इस दौरान खरीदारी से जुड़े सभी दस्तावेज मांगे और वो मैंने दे दिए. हालांकि कस्टम सामान का मूल्याकंन कर रहा है और इसका जो भी टैक्स बनेगा उसे चुकाने की बात मैं पहले ही कह चुका हूं. घड़ी की कीमत डेढ़ करोड़ रुपये है न कि पांच करोड़ रुपये जैसा कि सोशल मीडिया पर अफवाहों में कहा जा रहा है.
मैं देश के कानून को मानने वाला नागरिक हूं और सभी सरकारी एजेंसियों का आदर करता हूं. मुझे मुंबई कस्टम डिपार्टमेंट से पूरा सहयोग मिला और मैंने भी अपनी तरफ से पूरे सहयोग का भरोसा दिलाया है और इस मामले में उन्हें जो भी जरूरी वैध कागजात चाहिए होंगे वो मुहैया कराऊंगा. मेरे ऊपर कानूनी सीमा को पार करने के जो भी आरोप लगाए जा रहे हैं वे सब बेबुनियाद हैं. हार्दिक अभी भारतीय टीम से बाहर चल रहे हैं. उन्हें टी20 वर्ल्ड कप के बाद न्यूजीलैंड सीरीज के लिए टीम में नहीं चुना गया है. उनका हालिया प्रदर्शन निराशाजनक रहा है.

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.