छत्तीसगढ़ के सुकमा जिले से बड़ी खबर सामने आई है. यहां जिले के मरईगुड़ा के लिंगनपल्ली कैम्प में एक CRPF जवान ने अपने ही साथी जवानों पर गोली चला दी है. इस घटना में मौके पर चार जवानों की मौत हो गई है, जबकि 3 जवान गंभीर रूप से घायल हो गए हैं. इनमें से 1 जवान की हालत गंभीर बनी हुई है. सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार मरईगुड़ा के लिंगनपल्ली कैम्प में किसी बात को लेकर CRPF के 50वी बटालियन के जवानों के बीच विवाद हो गया था. यह विवाद इतना बढ़ गया कि एक जवान ने ​ताबड़तोड़ गोलियां चलानी शुरू कर दी. वारदात में कई जवान घायल हो गए हैं. सभी को रायपुर अस्पताल शिफ्ट किया गया है. इस घटना को लेकर अभी तक वरिष्ठ अधिकारियों का रकोई बयान सामने नहीं आया है, हालांकि आरोपी जवान को हिरासत में ले लिया गया है.

नक्सलियों ने सुकमा में स्कूल छात्रा समेत पांच ग्रामीणों का अपहरण किया
सुकमा जिले में नक्सलियों ने एक गांव से पांच लोगों का अपहरण कर लिया जिसके बाद सुरक्षा बलों ने तलाशी अभियान शुरू कर दिया है. पुलिस अधिकारी ने रविवार को बताया कि कोंटा थाने से जंगल के अंदर 18 किलोमीटर दूर स्थित बातेर गांव में ये घटना घटी है. यह इलाका राजधानी रायपुर से करीब 400 किलोमीटर दूर है.
सुकमा के पुलिस अधीक्षक सुनील शर्मा ने बताया कि, प्रारंभिक जानकारी के अनुसार नक्सलियों का एक समूह शनिवार शाम को गांव पहुंचा और वे सातवीं की एक छात्रा समेत पांच ग्रामीणों को जबरन अपने साथ ले गये. आज दोपहर बाद अपहरण की जानकारी मिलने के बाद सुरक्षा बलों ने इलाके में तलाशी अभियान शुरू कर दिया है.
आदिवासी समाज ने नक्सलियों से ग्रामीणों को छोड़ने की अपील की
उन्होंने कहा, यह अभी स्पष्ट नहीं है कि उनका अपहरण क्यों किया गया. माओवादी कई बार ग्रामीणों को बैठकों के लिहाज से कुछ समय के लिए भी अपने साथ ले जाते हैं. बस्तर क्षेत्र के आदिवासियों के संगठन सर्व आदिवासी समाज ने नक्सलियों से ग्रामीणों को छोड़ने की अपील की है.

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.