पश्चिम बंगाल विधानसभा में प्रतिपक्ष के बीजेपी नेता व नंदीग्राम से विधायक शुभेंदु अधिकारी  के निजी बॉडीगार्ड  शुभब्रत चक्रवर्ती की हत्या के मामले में CID ने उनके ड्राइवर (Driver) शंभु माइति और उनके एक करीबी संजीव शुक्ला को 7 सितंबर को तलब किया है. इससे पहले शनिवार को सीआईडी ने इसी मामले में शुभेंदु अधिकारी को सोमवार सुबह 11 बजे कोलकाता के भवानी भवन स्थित सीआईडी ​​मुख्यालय में पेश होने को कहा था.
बता दें कि ममता बनर्जी के फिर से सीएम बनने के बाद सब-इंस्पेक्टर शुभब्रत चक्रवर्ती की मौत का मामला इसी साल जुलाई में सीआईडी ​​को सौंपा गया था. उसने 2018 में पूर्व मेदिनीपुर के कांठी में एक पुलिस बैरक में कथित तौर पर खुद को गोली मार ली थी. हालांकि शुभेंदु अधिकारी कल भवानीपुर जाएंगे या नहीं. अभी यह साफ नहीं हो पाया है.
शुभेंदु पर लगा है बॉडीगार्ड को आत्महत्या के लिए उकसाने का आरोप
इस मामले में शुभेंदु अधिकारी पर आरोप है कि उन्होंने अपने सुरक्षा गार्ड को आत्महत्या के लिए उकसाया था. शुभब्रत चक्रवर्ती शुभेंदु अधिकारी के तृणमूल कांग्रेस के सांसद होने के समय से ही बीजेपी विधायक की सुरक्षा टीम का हिस्सा थे. मामले की जांच के तहत इस साल जुलाई में चार सदस्यीय सीआईडी ​​टीम ने पूर्व मेदिनीपुर में शुभेंदु अधिकारी के आवास पर छापा मारा था. सीआईडी के ​​अधिकारी कथित तौर पर शुभब्रत चक्रवर्ती के पूर्व सहकर्मियों से पूछताछ और जानकारी इकट्ठा करने के बाद नंदीग्राम विधायक शुभेंदु अधिकारी के घर पहुंचे थे.
बॉडीगार्ड की पत्नी ने शुभेंदु के खिलाफ दर्ज कराई है शिकायत
उनकी पत्नी सुपर्णा चक्रवर्ती ने इस साल की शुरुआत में कांथी पुलिस थाने में एक नई शिकायत दर्ज कराई थी, जिसमें उनके पति की मौत की जांच की मांग की गई थी. इस मामले की जांच पश्चिम बंगाल पुलिस कर रही थी. दरअसल में पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव से पहले शुभेंदु अधिकारी ने तृणमूल कांग्रेस छोड़ बीजेपी का दामन थाम लिया था और नंदीग्राम से ममता बनर्जी के खिलाफ चुनाव लड़ा था और जीत भी हासिल की थी. इसके बाद बीजेपी ने शुभेंदु अधिकारी को पश्चिम बंगाल में विपक्ष का नेता नियुक्त किया है. हालांकि रविवार को इस संबंध में शुभेंदु अधिकारी से सवाल पूछे गए, लेकिन वह सवाल को टाल गए. उन्होंने यह साफ नहीं किया कि कल वह सीआईडी कार्यालय में जाएंगे या नहीं.

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.