पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने बुधवार को पंजाब में सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) के अधिकार क्षेत्र को बढ़ाने के केंद्र के फैसले के लिए अपना समर्थन दोहराया और कहा कि केंद्रीय अर्धसैनिक बल का उद्देश्य अंतरराष्ट्रीय सीमाओं को सुरक्षित करना है न कि कब्जा करना. उन्होंने आगे BSF के ही हित में कहा, वे (बीएसएफ) यहां हमारी सीमाओं को सुरक्षित करने के लिए हैं न कि सरकार पर कब्जा करने के लिए. कोई भी राज्य पर कब्जा नहीं कर रहा है.
कैप्टन ने आगे कहा कि पाकिस्तान से आने वाले “पेलोड और ड्रोन की रेंज” बढ़ रही है और पंजाब पुलिस को स्थिति से निपटने के लिए “विशेष एजेंसियों” से मदद की ज़रूरत है.’पहला ड्रोन 1.5 साल पहले आया था. वे केवल नदी के पार पेलोड गिराते थे. फिर वे सीमा में 7-8 किलोमीटर की दूरी तक अंदर आने लगे. मेरे पास आखिरी जानकारी यह है कि वे सीमा में 31 किलोमीटर तक आ गए हैं. रेंज और पेलोड हैं बढ़ रहा है.
25-30 लोग भी साथ रहेंगे मौजूद
कांग्रेस के पूर्व नेता ने कहा, कल हम कुछ लोगों को अपने साथ ले जा रहे हैं, लगभग 25-30 लोग, और हम गृह मंत्री से मुलाकात करेंगे. केंद्र ने एक अधिसूचना के माध्यम से सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) को पंजाब सहित पांच राज्यों में अंतरराष्ट्रीय सीमा (आईबी) से भारतीय क्षेत्र के अंदर 50 किलोमीटर के क्षेत्र में तलाशी लेने, संदिग्धों को गिरफ्तार करने और जब्ती करने का अधिकार दिया.
कैप्टन ने मीडिया को संबोधित करते हुए यह भी घोषणा की कि वह एक नई राजनीतिक पार्टी बना रहे हैं, जिसका नाम और प्रतीक चुनाव आयोग द्वारा मंजूरी मिलने के बाद साझा किया जाएगा.सिंह ने पिछले महीने मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दे दिया था और घोषणा की थी कि वह कांग्रेस के राज्य प्रमुख नवजोत सिंह सिद्धू के साथ महीनों तक अनबन के बाद कांग्रेस छोड़ देंगे.उन्होंने कांग्रेस विधायक दल की बैठक से पहले इस्तीफा दे दिया था, जिसे राज्य में सत्तारूढ़ कांग्रेस में अंतहीन गुटीय लड़ाई के बीच बुलाया गया था. सिंह को राज्य के मुख्यमंत्री के रूप में चरणजीत सिंह चन्नी द्वारा प्रतिस्थापित किया गया था.
नवजोत सिंह सिद्धू पर भी प्रहार
कैप्टन अमरिंदर सिंह ने प्रेस कॉन्फ्रेंस करते हुए नई पार्टी बनाने का ऐलान किया है.जिसके नाम की जल्द ही कैप्टन घोषणा भी करेंगे. इसके साथ ही उन्होंने ये बताया कि वह पंजाब में कितनी विधानसभा सीटों पर चुनाव लड़ेंगे. हालांकि इस दौरान कैप्टन अमरिंदर सिंह ने ये साफ नहीं किया वह राज्य में अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी (BJP) या किसी अन्य दल के साथ गठबंधन करेंगे या नहीं. इस दौरान उन्होंने एक बार फिर नवजोत सिंह सिद्धू पर भी जोरदार प्रहार किया.

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.